मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

 नई दिल्ली, जेएनएन। इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप में भारत की तरफ से नंबर चार पर बल्लेबाजी कौन करेगा ये एक पहेली बनी हुई है। अब टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने बताया है कि इस विश्व कप में भारत के लिए नंबर चार पर कौन खिलाड़ी सबसे ज्यादा फिट बैठेगा। गांगुली ने इस नंबर के लिए रिषभ पंत का समर्थन किया है और कहा कि उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अपनी प्रतिभा को साबित किया है। 

आपको बता दें कि रिषभ पंत ने हाल में ऑस्ट्रेलिया के साथ खेली गई पांच मैचों की वनडे सीरीज के आखिरी दो मैचों के लिए टीम में शामिल किया गया था, जहां वह अपनी विकेटकीपिंग को लेकर आलोचकों के निशाने पर आ गए थे। पंत ने चौथे मैच में 36 और पांचवें में 16 रन की पारी खेली थी। गांगुली ने कहा कि अगर सिमित ओवर के क्रिकेट में रिषभ को बल्लेबाजी के लिए उपर भेजा जाता है तो वो अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं। पंत ने पिछले आइपीएल में काफी अच्छा प्रदर्शन किया था। हाल ही में टेस्ट क्रिकेट में वो काफी सफल रहे हैं। गांगुली ने पूछा कि आप मुझे बता दें कि भारत में कितने विकेटकीपर हुए हैं जिन्होंने इंग्लैंड व ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट शतक बनाया है, लेकिन पंत ने ये कमाल किया है। वो प्रतिभाशाली हैं और टेस्ट क्रिकेट में हम ये देख चुके हैं। 

गांगुली ने कहा कि सिमित ओवरों के क्रिकेट में उन्हें ज्यादा मौके नहीं मिले हैं और उन्हें जो भी मौके दिए गए उसमें उन्हें निचले क्रम पर बल्लेबाजी करना पड़ा है। ऐसे में वो खुद को साबित कर पाने में सफल नहीं रहे। मुझे ऐसा लगता है कि विश्व कप में अगर उन्हें उपर बल्लेबाजी करने का मौका मिलता है तो वो सफल रहेंगे। वहीं दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पोंटिंग ने पंत की तारीफ करते हुए कहा कि वो भारत के लिए अगले विश्व कप में मैन विनर साबित होंगे। 

पोंटिंग ने कहा कि रिषभ एक ऐसे प्लेयर हैं जो विश्व कप में भारत के लिए अहम भूमिका निभा सकते हैं। अगर मैं टीम का चयनकर्ता होता तो उन्हें टीम में शामिल जरूर करता। नंबर चार के लिए फिलहाल उनके बेहतर कोई भी बल्लेबाज नहीं है और उन्हें मौका जरूर दिया जाना चाहिए। 

कार्यभार की नहीं करें चिंता : आइपीएल खेल रहे विश्व कप खिलाडि़यों के कार्यभार को लेकर चल रही बहस के बीच गांगुली ने कहा, 'मेरी तो यही राय है कि खिलाडि़यों को थकान की चिंता किए बिना जितने मौके मिलें, उतना क्रिकेट खेलना चाहिए। उन्हें तरोताजा रहने के तरीके तलाशने होंगे, लेकिन नहीं खेलना कोई हल नहीं है। खेलने के मौके बहुत नहीं होते और जितने होते हैं, उनका अधिकतम उपयोग करना चाहिए। खेलते समय चोट लगना स्वाभाविक है और इसकी भी कोई गारंटी नहीं कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलते समय आप चोटिल नहीं होंगे लेकिन चोटिल होने के मायने अनफिट होना नहीं है। यह फैसला खिलाडि़यों पर ही छोड़ देना चाहिए कि उन्हें विश्व कप से पहले कितना खेलना है।' इसी बहस पर ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज पोंटिंग ने कहा, 'ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी आइपीएल में देर से आएंगे और जल्दी लौट जाएंगे। दक्षिण अफ्रीका के खिलाडि़यों के साथ भी ऐसा ही है। मुझे लगता है कि कुछ भारतीय गेंदबाजों को भी इस बारे में ध्यान रखना होगा।'

भारत विश्व कप में प्रबल दावेदार : विश्व कप केप्रबल दावेदारों के बारे में पूछने पर गांगुली ने 'भारत के पास बेहद प्रतिभाशाली टीम है जिसमें विराट, रोहित, शिखर, धौनी जैसे बल्लेबाज हैं और साथ ही बुमराह, भुवनेश्वर हैं। इस टीम को किसी सलाह की जरूरत नहीं है, लेकिन मैं इतना ही कहूंगा कि खुलकर खेलें।' वहीं, पोंटिंग ने भारत और ऑस्ट्रेलिया को प्रबल दावेदारों में बताया। उन्होंने कहा, 'मैं पसंदीदा टीम बताने में ज्यादा भरोसा नहीं करता क्योंकि हालात बहुत जल्दी बदल जाते हैं। भारत में वनडे सीरीज जीतने से पहले कोई ऑस्ट्रेलिया को प्रबल दावेदार नहीं मान रहा होगा, लेकिन अब हालात अलग है। मेरे ख्याल से भारत और ऑस्ट्रेलिया सबसे मजबूत दावेदार होंगे।' यह पूछने पर कि क्या भारतीय टीम विराट कोहली पर बहुत ज्यादा निर्भर है तो गांगुली ने 'ऐसा नहीं है। अपने-अपने समय के चैंपियन क्रिकेटर हुए हैं मसलन हमारे समय में सचिन तेंदुलकर, पोंटिंग थे और अब विराट हैं। लेकिन मौजूदा भारतीय टीम इतनी प्रतिभाशाली है कि अगर विराट नाकाम रहते हैं तो भी टीम नाकाम नहीं होगी। विराट के अलावा भी टीम में रोहित, धवन और धौनी जैसे शानदार रिकॉर्ड रखने वाले खिलाड़ी मौजूद हैं।

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप