नई दिल्ली, जेएनएन। इंग्लैंड से वनडे और टेस्ट सीरीज हार के बाद भी रवि शास्त्री ने कहा था कि यह टीम पिछले 10-15 सालों की सर्वश्रेष्ट टीम है। इसके बाद ना केवल फैंस ने बल्कि कई क्रिकेट दिग्गजों ने क्लास लगाई थी। अब उस बयान पर भारत के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने भी अपनी राय देते हुए कहा कि यह मायने नहीं रखता कि कौन सर्वश्रेष्ट है और कौन नहीं। अभी टीम के लिए ये जरूरी है कि टीम ने उससे क्या सीख ली और उसे अब किस तरह आगे बढ़ना है। इसके साथ ही द्रविड़ ने साफ कर दिया की शास्त्री के बयान में उनकी कोई दिलचस्पी नहीं है और ना ही इस पर टिप्पणी भी नहीं करना चाहता।

आपको बता दें कि भारत ने आखिरी बार इंग्लैंड में सीरीज साल 2007 में जीती थी और द्रविड़ उस टीम के कप्तान थे। टीम इंडिया दीवार रहे इस खिलाड़ी ने कहा कि शास्त्री के बयान को काफी बढ़ा चढ़ा के पेश किया गया है। वहीं टीम इंडिया के प्रदर्शन पर द्रविड़ ने कहा कि इंग्लैंड में टीम इंडिया ने मौकों को नहीं भुनाया। द्रविड़ ने कहा कि इस दौरे पर भारतीय टीम की गेंदबाजी ने बहुत भरोसा दिया है लेकिन टीम इंडिया ने हाथ आए मौकों का फायदा नहीं उठाया।

भारतीय टीम के इस पूर्व कप्तान ने टीम इंडिया का सपोर्ट करते हुए कहा कि भारतीय टीम को 3 या 4 साल में इंग्लैंड का दौरा करना होता है और इस दौरान खिलाड़ियों के साथ सपोर्ट स्टाफ को भी निराशा होती है क्योंकि कोई नहीं जानता कि अगले 4 सालों में क्या होगा। लेकिन इस बार वास्तव में हमारी टीम काफी अच्छी थी। हमारी गेंदबाजी शानदार रही और इस बार हमारे फील्डर्स ने भी जबरदस्त प्रदर्शन किया।

द्रविड़ यूएई में चल रहे एशिया कप के बारे में कहा कि वास्तव में टूर्नामेंट में पूरा ध्यान भारत  और पाकिस्तान के मैच पर केंद्रित किया जा रहा है, लेकिन आपको ये समझना होगा कि बांग्लादेश और अफगानिस्तान भी अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं हमें अन्य टीमों से भी सतर्क रहने की जरूरत है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Lakshya Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप