नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय टीम में समिति ओवरों के प्रारूप में इस वक्त फिंगर स्पिनर्स की डिमांड जरा कम हो गई है क्योंकि रिस्ट स्पिनर्स कमाल कर रहे हैं और ऐसे में फिंगर स्पिनरों को ज्यादा मौका मिल नहीं पा रहा। भारतीय क्रिकेट टीम के सीनियर स्पिनर आर. अश्विन फिंगर स्पिनर हैं और वो पिछले कुछ समय से रिस्ट स्पिनर बनने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने सोमवार को गुजरात के खिलाफ घरेलू वनडे मैच में रिस्ट से गेंद को स्पिन कराया और 9.1 ओवर में 38 रन देकर 2 विकेट भी लिए। इस मैच में तमिलनाडु को 76 रन से जीत भी मिली। 

जिस वक्त अश्विन टेस्ट गेंदबाजी रैंकिंग में टॉप पर चल रहे थे उसी वक्त उन्हें भारतीय वनडे टीम से बाहर किया गया। वनडे टीम में चहल और कुलदीप को मौका दिया गया और अब ये दोनों टीम का अहम हिस्सा हैं साथ ही इन दोनों की मौजूदगी में भारतीय टीम को वनडे में हरा पाना किसी भी टीम के लिए मुमकिन होता नहीं दिख रहा है। 

भारतीय वनडे टीम में जगह बनाने के लिए साथ ही दो नए गेंदबाजों से मिल रही चुनौतियों से निपटने के लिए अश्विन लेग स्पिन गेंदबाजी करने की कोशिश कर रहे हैं। अश्विन ने कहा कि ये आने वाले आइपीएल के लिए मेरे प्लान का हिस्सा है और इससे मेरी गेंदबाजी में और विविधता आएगी। मैं अपने ऑफ स्पिन एक्शन से लेग ब्रेक गेंदबाजी कर रहा था जब चेन्नई में लीग क्रिकेट खेल रहा था। मैं अब अपनी गेंदबाजी में और विविधता लाना चाहता हूं। मैं लगभग 10 वर्ष से ऑफ ब्रेक गेंदबाजी कर रहा हूं और नई चुनौतियों को देखते हुए अपनी गेंदबाजी में कुछ नयापन लाना चाहता हूं। 

अश्विन ने बताया कि वो अपनी गेंदबाजी पर जमकर काम कर रहे हैं और इसके लिए अपने एकेडमी के कोच से फिडबैक लेता रहता हूं। एल बालाजी ने इसमें मेरी काफी मदद की है। पहली बार जब मैं अपनी लेग स्पिन गेंदबाजी पर काम कर रहा था उस दौरान हम दोनों ने इस गेंद में तेजी लाने पर भी काम किया। मेरा आर्म 45 डिग्री से ज्याादा नहीं जाता जो किसी भी लेग स्पिनर के लिए पूरी तरह से सही है। मुझे अपने एक्शन को भी और सही करना था जो मेरे लिए काफी तकलीफदेह था। एक दिन गेंदबाजी सही होती थी और दूसरे दिन फिर से वैसी ही गेंदबाजी हो रही थी। आखिरकार काफी मेहनत करने के बाद मुझे वो जगह मिल ही गई जहां मुझे गेंद डालनी थी। 

आइपीएल 2018 में अश्विन पंजाब की तरफ से खेलेंगे इसके बारे में उनका कहना था कि ये मेरे लिए काफी दुखद है क्योंकि मैं चेन्नई के साथ काफी साल तक जुड़ा रहा। चेन्नई में मैं जब भी गेंदबाजी करता था मुझे जो चीयर मिलता था वो हमेशा मेरे जहन में रहेगी। अब में चेन्नई में चेन्नई के खिलाफ खेलूंगा ये मुझे और ज्यादा उत्साहित करेगा। 

आपको बता दें कि इन दिनों विजय हजारे ट्रॉफी में अश्विन चेन्नई के लिए खेल रहे हैं और वो अपनी नई गेंदबाजी को भी आजमा रहे हैं। इस कड़ी में उन्होंने गोवा के खिलाफ 10 ओवर में 30 देकर 2 विकेट लिए साथ ही उन्होंने दो मेडन ओवर भी फेंके। इससे पहले सोमवार को उन्होंने गुजरात के खिलाफ भी 2 विकेट लिए थे। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस