नई दिल्ली, जेएनएन। कप्तान विराट कोहली की बल्लेबाजी के कायल अब पूर्व पाकिस्तानी ऑफ स्पिनर सकलैन मुश्ताक भी हो गए हैं। दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के खिलाफ कई मैच खेलने वाले सकलैन का कहना है कि जिस तरह से विराट कोहली ने इंग्लैंड के मौजूदा दौरे में बल्लेबाजी की है उससे वह तेंदुलकर के करीब पहुंच गए हैं। मुश्ताक ने कहा कि एक बल्लेबाज के तौर पर सचिन बहुत बड़े खिलाड़ी थे। मैं तुलना नहीं कर सकता, लेकिन विराट इकलौते ऐसे खिलाड़ी हैं जो उनके स्तर के करीब हैं।

इंग्लैंड की टीम के स्पिन विभाग के सलाहकार सकलैन ने कहा कि पांच मैचों की सीरीज में भारतीय टीम की वापसी इस बात पर निर्भर करेगी कि कोहली अपनी बल्लेबाजी इकाई का नेतृत्व कैसे करते हैं। सकलैन ने कहा कि इंग्लैंड की टीम के सहयोगी स्टाफ के सदस्यों के बीच इस बात पर चर्चा हो रही थी कि उन्होंने ट्रेंट ब्रिज में कैसी बल्लेबाजी की।

सिर्फ तीसरे टेस्ट में ही जेम्स एंडरसन की गेंदबाजी पर कम से कम 40 बार गेंद उनके बल्ले के किनारे से निकली, लेकिन अगली गेंद पर वह पूरे आत्मविश्वास में नजर आए। उन्होंने कहा कि विराट गेंद दर गेंद, एक-एक रन और सत्र दर सत्र बल्लेबाजी करते हैं। उनमें रन बनाने और जीतने की बहुत ज्यादा भूख है।

जब आपकी टीम में कोई इतनी भूख वाला खिलाड़ी हो तो वह अपनी भूख को संतुष्ट करने के लिए कुछ भी कर सकता है। कोहली ने सीरीज के तीसरे मैच में शतक और 97 रन की पारी खेली, जिससे भारत ने वापसी की। इंग्लैंड हालांकि अभी भी 2-1 से आगे है। सकलैन ने कहा कि विराट जिस तरह रन बना रहे हैं वह इंग्लैंड के लिए अच्छा संकेत नहीं है। पहले टेस्ट में मैंने एक साइनबोर्ड देखा जिस पर लिखा था 'इंग्लैंड बनाम विराट कोहली'। 

अगर आप उन्हें सीरीज से बाहर कर देंगे तो इंग्लैंड के लिए काफी आसान हो जाएगा। अगर आप कोचिंग के नजरिये से देखेंगे तो उनके कारण दूसरे बल्लेबाज भी रन बना रहे हैं। आपकी टीम में विराट जैसे विश्व स्तरीय बल्लेबाज होने से निश्चित रूप से पूरी बल्लेबाजी लाइन-अप का मनोबल बढ़ जाता है।

 

Posted By: Lakshya Sharma