कराची, प्रेट्र।PCB vs BCCI पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के चेयरमैन अहसान मनी ने कहा है कि पाकिस्तान ने भारत को आइसीसी की विवाद समाधान समिति में मामला हारने के बाद मुआवजे के तौर पर लगभग 10 करोड़ 98 लाख रुपये (1.6 मिलियन डॉलर) की राशि का भुगतान किया है।

उन्होंने कहा कि इस मुआवजे के मामले में हमने लगभग 15.09 करोड़ रुपये (2.2 मिलियन डॉलर) की राशि गंवाई है।उन्होंने जोर देते हुए कहा कि इसमें भारत को भुगतान की गई राशि के अलावा अन्य कानूनी फीस और यात्रा से संबंधित खर्च शामिल थे। पीसीबी ने पिछले वर्ष आइसीसी की विवाद समाधान समिति के सामने लगभग 4.80 अरब (70 मिलियन अमेरिकी डॉलर) की राशि के लिए बीसीसीआइ के खिलाफ मुआवजा मामला दायर किया था। पीसीबी ने बीसीसीआइ से दोनों बोडरें के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर नहीं करने के लिए एक बड़ी राशि मांगी थी।

एमओयू के मुताबिक भारत और पाकिस्तान को 2015 और 2023 के बीच छह द्विपक्षीय सीरीज खेलनी थीं, लेकिन बीसीसीआइ इसमें फेल रहा था। भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने कहा कि वे पाकिस्तान के खिलाफ खेलने में असमर्थ थे क्योंकि भारत सरकार ने उन्हें अनुमति नहीं दी थी। भारत ने कानूनी रूप से पाकिस्तान बोर्ड के दावों को भी खारिज कर दिया। मनी ने कहा कि आइसीसी समिति ने स्वीकार किया कि पाकिस्तान को भारतीय बोर्ड को लगभग 15.09 करोड़ रुपये का हर्जाना देना पड़ेगा। पीसीबी के अनुसार, भारत के साथ हुए अनुबंध में भारत को 2015 से 2023 तक पाकिस्तान के साथ छह द्विपक्षीय सीरीज खेलनी थी। पाकिस्तान का कहना है कि यह सीरीज नहीं खेलकर भारत ने अनुबंध को तोड़ा है, जिसकी एवज में ही पाकिस्तान ने मुआवजे का केस दर्ज कराया था।

Posted By: Sanjay Savern