लाहौर, एएनआई। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के ऑल राउंडर मो. हफीज ने साफ कर दिया कि उन्होंने टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज डेल स्टेन से डरकर नहीं ली। 38 वर्ष के हफीज को डेल स्टेन ने अब तक क्रिकेट से हर प्रारूप को मिलाकर कुल 15 बार आउट किया है। हफीज ने कहा कि उन्होंने स्टेन से डरकर ये फैसला नहीं किया था। मैंने अपने रिटायरमेंट का फैसला पाकिस्तान क्रिकेट की बेहतरी के लिए किया था लेकिन अगर कोई ऐसा सोचता है तो उन्हें मैं गुड लक कहता हूं। 

हफीज ने कहा कि इस वक्त उनकी नजर अगले वर्ष इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप खेलने पर है। उन्होंने कहा कि इस वक्त में वनडे या टी 20 क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने के बारे में नहीं सोच रहा हूं क्योंकि इस वक्त मेरा लक्ष्य पाकिस्तान के लिए वनडे विश्व कप में खेलना है। जब तक मैं फिट रहूंगा और फील्ड पर अच्छा प्रदर्शन करता रहूंगा मैं पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व सिमित ओवरों के प्रारूप में करता रहूंगा। 

संयुक्त अरब अमीरात में पाकिस्तान के टेस्ट सीरीज में न्यूजीलैंड के हाथों हार झेलनी पड़ी इसके बारे में हफीज ने कहा कि पास्ट में जो कुछ भी हुआ उसे भूल जाया जाए और अपना ध्यान आगे आने वाले सीरीज पर केंद्रीत किया जाए। न्यूजीलैंड की टीम ने 49 वर्ष के बाद पाकिस्तान को तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में अपने घर के बाहर हराया था। हफीज ने कहा कि इस टेस्ट सीरीज का नतीजा हमारे मुताबिक नहीं रहा लेकिन हमें इस नाकामी को भूलकर आगे आने वाली सीरीज पर ध्यान देना होगा। 

पाकिस्तान की टीम इस महीने की आखिरी में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाएगी जहां उसे तीन टेस्ट, पांच वनडे व तीन टी 20 मैचों की सीरीज खेलनी है। हफीज ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका दौरा हमारे लिए काफी चुनौतियों से भरी होगी लेकिन इसका मतलब नहीं कि हम वहां जीत नहीं सकते। इसके अलावा हफीज पाकिस्तान सुपर लीग के अगले सीजन में लाहौर कलंदर की कप्तानी करेंगे। उन्होंने कहा कि टीम मैनेजमेंट ने मुझ पर भरोसा जताते हुए मुझे कप्तानी सौंपी है। मेरी कोशिश रहेगी कि मैं टीम और उनके फैंस को निराश ना करूं। मुझे आशा है कि मेरी टीम अगले सीजन में अच्छा प्रदर्शन करेगी। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप