नई दिल्ली, जेएनएन। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और मौजूदा विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धौनी अपने अनुभव की वजह से गेंदबाजों को दिशा दिखाने का काम करते नज़र आते हैं। यहां तक कि विराट कोहली के कप्तान रहते हुए डेथ ओवर्स में धौनी खुद से फील्ड सेट करते हैं क्योंकि, विराट आखिरी के ओवर्स में बाउंड्री पर फील्डिंग करते हैं। ऐसे में विकेट के पीछे खड़े धौनी ही गेंदबाजों के साथ बातचीत करते हैं और डीआरएस के सटीक फैसले लेते हैं। ऐसे ही एक वाकये को कुलदीप यादव ने शेयर किया था और बताया कि धौनी विकेट के पीछे रहते हुए उनकी कितनी मदद करते हैं।

भारतीय टीम के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने धौनी की इसी रवैये पर चुटकी ली थी। कुलदीप यादव ने मजाक में कहा था कि धौनी हर बार सही नहीं होते। वर्ल्ड कप से पहले और चेन्नई सुपर किंग्स के चौथी बार आइपीएल चैंपियन बनने से एक रन से चूकने के बाद कुलदीप यादव का ये बयान मीडिया में सुर्खिया बटोरता दिखा। जिसको लेकर कुलदीप यादव ने अब अपना पक्ष साफ कर दिया है कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा था।

दरअसल, कुलदीप यादव ने कहा था कि ऐसा कई बार हुआ है जब धौनी गलत साबित हुए हैं लेकिन यह आप उनसे नहीं कह सकते। हालांकि, कुलदीप यादव ने यह भी स्पष्ट किया था कि धौनी ओवर के बीच में सिर्फ तभी अपनी सलाह देते हैं जब उन्हें जरूरी लगता है। इसी बयान को कई मीडिया संस्थानों ने तोड़-मरोड़कर पेश किया तो कुलदीप यादव ने अपने सोशल मीडिया अंकाउट इंस्टाग्राम के जरिए सफाई दी और कहा है उन्होंने ऐसा कोई बयान नहीं दिया।

इंस्टा स्टोरी में कुलदीप यादव ने कहा, "हमारे मीडिया ने एक और विवाद पैदा कर दिया, जो कि बिना कारण के अफवाह बनाना पसंद करता है। कुछ लोगों द्वारा प्रकाश में लाए गए मुद्दों पर झूठी खबर बनाकर पेश कर दी। मैंने इस तरह का कोई अनुचित बयान नहीं दिया है। मेरे अंदर माही भाई के लिए बहुत सम्मान है।"

आपको बता दें कि टीम इंडिया ने साल 2007 टी20 वर्ल्ड कप एमएस धौनी की कप्तानी में जीता था। उसके बाद धौनी की कप्तानी में ही भारत ने 2011 वर्ल्ड कप भी अपने नाम किया। इसके अलावा साल 2013 में धौनी ने टीम इंडिया को आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी भी जिताई। धौनी ने साल 2014 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया और फिर साल 2017 में वनडे और टी20 की कप्तानी भी छोड़ दी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप