नई दिल्ली एएनआइ। रविवार को आइसीसी मेन्स क्रिकेट वर्ल्ड कप फाइनल में इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को हराकर खिताब अपने नाम दर्ज किया। इस जीत के बाद इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर ने कहा कि न्यूजीलैंड की टीम फाइनल में हारने के लायक नहीं थी। उन्होंने न्यूजीलैंड टीम को शानदार खेल का श्रेय दिया है। बटलर ने कहा कि कोई भी टीम हारने के लायक नहीं होती है। वास्तव में उनकी टीम के साथ खेलना मुश्किल था।

जोस बटलर ने कहा कि सुपर ओवर से बंधे होने के कारण उनके दिमाग में क्या चल रहा था, तो बटलर ने कहा कि मैच कुछ क्रिकेट का क्लासिक है, जिस पर यकीन नहीं हो रहा था। उन्होंने कहा कि यह उन खेलों में से एक है जो आप क्रिकेट क्लासिक्स पर देखते हैं। और निश्चित रूप से विश्वास भी नहीं करते कि यह हो सकता है। खेल में बाहर निकलना निराशा की तरह था। फिर बाद में उन सीमाओं में से कुछ देखें। 

बता दें कि विश्व कप फाइनल में इंग्लैंड व न्यूजीलैंड मैच का फैसला सुपर-ओवर से किया गया। इस विश्व कप में पहली बार सुपर-ओवर देखने को मिला है। 50 ओवर का मैच और सुपर ओवर में दोनों टीम का मैच टाई पर समाप्त हुआ। न्यूजीलैंड टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 241 रन बनाए थे। इसके जवाब में इंग्लैड की टीम 241 रन पर ढेर हो गई। टाई मैच होने के बाद मैच का फैसला सुपर-ओवर से किया गया। लेकिन, सुपर-ओवर में भी दोनों टीमों ने बराबर रन बनाए और पारी में ज्यादा बाउंड्री लगाने के आधार पर मैच इंग्लैंड जीत गया। 

- ये स्टोरी इंटर्न द्वारा ट्रांसलेट की गई है

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप