मुंबई, प्रेट्र। मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने आइपीएल 2022 में बेहद खराब बल्लेबाजी की और 14 मैचों में 19.14 की औसत से 268 रन बनाए और उनका स्ट्राइक रेट 120.17 रहा। साल 2008 से आइपीएल में खेल रहे रोहित शर्मा इस सीजन में एक अर्धशतक तक नहीं लगा पाए और उनकी खराब बल्लेबाजी का खमियाजा उनकी टीम को भी भुगतना पड़ा जो प्लेआफ में पहुंचना तो दूर अंकतालिका में भी दसवें नंबर पर रही। 

इस सीजन में किए गए बेहद खराब प्रदर्शन के बाद मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने स्वीकार किया कि  बल्लेबाजी में काफी कुछ उनके अनुकूल नहीं रहा, लेकिन इस निराशाजनक सीजन के बावजूद उनकी रातों की नींद गायब नहीं हुई और थोड़े बदलाव करने से वह फिर से फार्म में वापसी कर लेंगे। रोहित शर्मा ने शनिवार को इस सीजन का अपना आखिरी मैच खेलने के बाद संवाददाताओं से कहा कि बहुत सी चीजें जो मैं करना चाहता था, उन्हें मैं नहीं कर पाया। मैं इस सीजन में अपने प्रदर्शन से बहुत निराश हूं, लेकिन ऐसा मेरे साथ पहले भी हो चुका है, इसलिए ये ऐसा नहीं है जिससे मैं पहली बार गुजर रहा हूं।

उन्होंने कहा कि मैं जानता हूं कि क्रिकेट यहीं खत्म नहीं होता, आगे हमें काफी क्रिकेट खेलनी है। इसलिए मुझे मानसिक पहलू पर ध्यान देने और इस पर विचार करने की जरूरत है कि मैं फार्म में कैसे लौट सकता हूं और कैसे अच्छा प्रदर्शन कर सकता हूं। रोहित ने कहा कि थोड़े बदलाव करने होंगे और जब भी समय मिलेगा मैं इन पर काम करने की कोशिश करूंगा। यह सीजन हमारे लिए थोड़ा निराशाजनक रहा क्योंकि टूर्नामेंट की शुरुआत में हम अपनी रणनीति पर अमल नहीं कर पाए। हम जानते हैं कि आइपीएल जैसे टूर्नामेंट में आपको लय बनानी होती है।

रोहित शर्मा ने कहा कि जब शुरू में जब हम एक के बाद एक मैच हार रहे थे तो वह मुश्किल दौर था। हमारे लिए यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण था कि हमने जो भी रणनीति बनायी थी, हम उसके अनुसार चलें। हम जैसा चाहते थे यह वैसा नहीं हुआ। रोहित ने कहा कि जब आपके पास एक नयी टीम होती है तो कभी-कभी ऐसा होता है क्योंकि कुछ खिलाड़ियों को अपनी भूमिका समझने में समय लगता है। कुछ खिलाड़ी इस फ्रेंचाइजी के लिए पहली बार खेल रहे थे। आपको बता दें कि मुंबई ने 14 मैचों में से 4 में जीत दर्ज की थी और 10 मैचों में इस टीम को हार मिली थी। 

Edited By: Sanjay Savern