नई दिल्ली, जेएनएन। इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के ओपनर देवदत्त पडीक्कल शतक बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने। राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 51 गेंद पर उन्होंने अपने आइपीएल करियर का पहला शतक बनाया। मैच के बाद उन्होंने बताया कि उनको इस बात की चिंता नहीं थी की शतक पूरा होगा या नहीं वह टीम की जीत चाहते थे।

मैच के बाद देवदत्त ने कहा, "ईमानदारी से कहूं तो यह बहुत ही खास है मेरे लिए, मैं जो कर सकता था वो था अपनी बारी आने का इंतजार। जब मुझे कोरोना हुआ, तो मैं बस इसी एक चीज के बारे में सोच रहा था, कि कब मुझे मौका मिले और मैं खेलने के लिए उतरूं। जब मैंने अपना पहला मैच मिस किया तो वाकई बहुत ज्यादा दुख हुआ था। यह विकेट बहुत ही ज्यादा अच्छी थी और हमने जब साझेदारी बनानी शुरू की तो यह और भी बेहतर होता चला गया।"

देवदत्त ने 51 गेंद पर अपने आइपीएल करियर का पहला शतक बनाया। यह टूर्नामेंट का कुल 63वां शतक था और आरसीबी की तरफ से लगाया गया 14वां शतक। 52 गेंद पर 11 चौके और 6 छक्के की मदद से उन्होंने 101 रन की पारी खेली। राजस्थान के खिलाफ 10 विकेट से जीत हासिल कर आरसीबी ने विजय क्रम जारी रखते हुए लगातार चौथी जीत हासिल की।

"नहीं ऐसे कोई चिंता नहीं थी कि मेरा शतक कब आएगा, मैंने विराट कोहली से कहा था कि आप रन बनाने पर ध्यान दें। आखिर में अगर मैं शतक नहीं भी बना पाता हूं तो मेरे लिए इतनी कोई बड़ी बात नहीं होगी, जो बात बड़ी है वो यह कि हमारी टीम को जीत मिलनी चाहिए। हम दोनों के बीच जो बातचीज हुई वह बिल्कुल साफ थी, हम दोनों को ही इस बात पता चल गया था कि कब अच्छी बल्लेबाजी हो रही है। एक वक्त आया जब वह बहुत ही शानदार बल्लेबाजी कर रहे थे, तो कभी मैं काफी अच्छी बल्लेबाजी कर रहा था। हम बस स्ट्राइक बदलते रहना चाह रहे थे।"  

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप