नई दिल्ली, जेएनएन। विराट कोहली भारतीय टीम के कप्तान के तौर पर काफी सफल हैं, लेकिन जब टी20 लीग आइपीएल की बात आती है तो उनकी कप्तानी पर सवालिया निशान खड़े हो जाते हैं। आइपीएल में बतौर कप्तान विराट कोहली सफलता का स्वाद चखने के लिए बेताब हैं जब से उन्होंने टीम की कमान संभाली है। हालांकि वो 2016 में फाइनल तक पहुंचे थे, लेकिन हैदराबाद ने इस टीम की खिताबी जीत की उम्मीद को फाइनल में खत्म कर दिया था। 

आरसीबी का प्रदर्शन पिछले तीन सीजन से तो और भी खराब रहा है और टीम प्लेऑफ तक भी नहीं पहुंच पाई है तो वहीं पिछले सीजन में इस टीम ने 14 में से सिर्फ 5 मैच जीते थे। आरसीबी के पूर्व हेड कोच रे जेनिंग्स ने विराट को लेकर काफी बातें कही हैं जो 2008 से 2013 तक इस टीम के साथ काम कर चुके हैं। जेनिंग्स ने बताया कि किस तरह से विराट कोहली शुरुआती साल में कप्तान के तौर पर संघर्ष कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मौजूदा कप्तान कोहली ने शुरुआत में कई बार गलत खिलाड़ियों का समर्थन किया था और इसकी वजह से विराट और उनके बीच के संबंध खराब हो गए थे। इन कारणों की वजह से आरसीबी उन दिनों एक असफल टीम साबित हुई थी।  

जेनिंग्स के कोच रहते आरसीबी ने 2009 और 2011 में दो फाइनल खेले थे, लेकिन टीम को जीत नहीं मिली थी। वहीं आरसीबी आइपीएल में क्यों संघर्ष कर रही है इसके बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि आइपीएल और इंटरनेशनल क्रिकेट में अंतर है। छह सप्ताह के अंदर के समय में कुछ खिलाड़ी फॉर्म हासिल कर लेते हैं तो कुछ संघर्ष करते रहते हैं। ऐसी हालत में ग्रुप में किसी एक ऐसे व्यक्ति को रहने की जरूरत है जो उन्हें रास्ता दिखा सके। जब मैं वहां था तो कुछ खिलाड़ियों को ज्यादा खेलना चाहिए था, लेकिन उनके अलग विचार थे। हालांकि ये पहले की बात है और अब विराट दिन ब दिन मैच्योर होते जा रहे हैं और वो आइपीएल ट्रॉफी जीतना शुरु कर देंगे।

वहीं जेनिंग्स ने कहा कि विराट कोहली भविष्य में आइपीएल में कप्तान के तौर पर जरूर सफल होंगे। उन्होंने ये भी कहा कि आइपीएल की टीम की सफलता में नीलामी की अहम भूमिका होती है। हमारे साथ किस तरह के खिलाड़ी जुड़ते हैं इससे टीम के प्रदर्शन पर असर होता है। आरसीबी को आइपीएल 2020 का पहला मैच सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 21 सितंबर को खेलना है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस