शारजाह, एएनआइ। आइपीएल 2020 में शनिवार को दिल्ली कैपिटल्स (DC) के खिलाफ चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) को ड्वेन ब्रावो की कमी खली। ब्रावो चोट के कारण मैदान से बाहर चले गए और मजबूरी में कप्तान महेंद्र सिंह धौनी को आखिरी ओवर रविंद्र जडेजा से करानी पड़ी। टीम को इस मैच में पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा। ऑलराउंडर खिलाड़ी की चोट पर टीम के कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि ब्रावो ग्रोइन इंजरी से जूझ रहे हैं। इसी वजह से वो दिल्ली के खिलाफ आखिरी ओवर में गेंदबाजी नहीं कर पाए। उनको ठीक होने में कुछ दिन या हफ्ते भी लग सकते हैं। 

श्रेयस अय्यर की अगुवाई वाली दिल्ली की टीम ने एक गेंद शेष रहते पांच विकेट से जीत दर्ज कर ली। दिल्ली को अंतिम ओवर में 17 रन बनाने थे। ब्रावो की अनुपस्थिति में रवींद्र जडेजा ने यह ओवर किया। अक्षर पटेल ने तीन छक्के जड़कर दिल्ली की टीम को जीत दिलाई। वह सिर्फ पांच गेंदों पर 21 रन बनाकर नाबाद रहे। ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन ने नाबाद 101 रनों की पारी खेली। यह आइपीएल में उनका पहला शतक है। 

मैच के बाद फ्लेमिंग ने कहा कि दुर्भाग्य से ड्वेन ब्रावो चोटिल हो गए। इसलिए वह आखिरी ओवर नहीं फेंक सके। स्वाभाविक रूप से वह एक डेथ बॉलर हैं, जिस तरह से हमारा सीजन चल रहा है, हमारे सामने काफी चुनौतियां आ रही हैं। जडेजा से आखिर में गेंदबाजी कराने की योजना नहीं थी, लेकिन ब्रावो के चोटिल होने के बाद हमारे पास कोई अन्य विकल्प नहीं था।

फ्लेमिंग ने कहा कि ब्रावो को ग्रोइन इंजरी है। चोट गंभीर है इस वजह से वह फिर मैदान पर नहीं लौट पाए। अंतिम ओवर नहीं फेंक पाने के कारण वह निराश हैं। वह इसी काम के लिए टीम में हैं। ब्रावो को ठीक होने में कुछ दिन या हफ्ते भी लग सकते हैं। 

मैच में दिल्ली की तरफ से शतक लगाने वाले धवन को कई जीवनदान मिला। उनके कई कैच छूटे इसे लेकर फ्लेमिंग ने कहा कि हमने शिखर धवन को कुछ जीवनदान दिया। वह अच्छा खेल रहे थे। हमारे पास उनका विकेट जल्दी लेने के मौके थे, लेकिन हम उन्हें भुना नहीं पाए। वह आक्रामक बल्लेबाजी कर रहे थे और आवश्यक रन-रेट बनाए रख रहे थे। अगर हम उन्हें आउट कर देते, तो उनके मध्य और निचले क्रम पर दबाव डाला जा सकता था और मैच का परिणाम अलग हो सकता था।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस