नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय विकेटकीपर रिद्धिमान साहा की चोट के बाद से एनसीए की सुविधाओं पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। खबर तो ये भी है कि भुवनेश्वर और साहा सहित टीम इंडिया के कई खिलाड़ी एनसीए में मिलने वाली सुविधाओं से खुश नहीं है और यहां ट्रेनिंग करने के बाद भी उनकी चोट में फर्क नहीं पड़ा रहा है। साहा की चोट के लिए तो यहां तक कहा जा रहा है कि एनसीए के सीनियर फिजियो की गलती की वजह से उनकी चोट पहले से ज्यादा बढ़ गई है।

अब साहा की स्थिति ये  है कि वह खेलना तो छोड़ो बल्ला तक नहीं उठा सकते। यहां तक की उनका करियर भी अब खतरे में पड़ गया है। तमाम विवाद के बाद बीसीसीआइ ने भी साहा का ऑपरेशन कराने का फैसला किया है। बीसीसीआइ साहा को इलाज के लिए इंग्लैंड के मैनचेस्टर भेज रहा है, अब वहां साहा का ऑपरेशन उसी डॉक्टर के द्वारा होगा जिसने साल 2006 में सचिन तेंदुलकर के कंधे की सर्जरी की थी।

एनसीए पर उठती उंगलियों के बीच एक क्रिकेटर ने इसका बचाव भी किया है। भारत के स्टार बल्लेबाज युवराज सिंह ने ट्वीट कर एनसीए से मिलने वाली सुविधाओं को अच्छा बताया। युवराज ने लिखा कि मैं एनसीए की लगातार आलोचना सुन रहा हूं लेकिन मैं अपना अनुभव बताना चाहूंगा।

 जब कैंसर के बाद मैदान में लौटा था तो एनसीए की सुविधा और ट्रेनिंग की वजह से टीम इंडिया में जगह बना पाया था। यहां पर दुनिया के बेस्ट फिजियो और ट्रेनर की देखरेख में खिलाड़ियों को अपनी पुरानी फिटनेस हासिल करने में मदद मिलती है।

दरअसल ये सारा विवाद साहा की चोट के बाद हुआ। इसके बाद बीसीसीआइ के अधिकारी ने खुले में कह दिया कि फिजियो की गलत ट्रेनिंग ने साहा की चोट को बढ़ा दिया। पहले साहा की चोट इतनी गंभीर नहीं थी लेकिन अब उनकी हालत बहुत ज्यादा खराब है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Lakshya Sharma