कोलंबो, पीटीआइ। श्रीलंका के मुख्य कोच मिकी आर्थर ने शनिवार को कहा कि उनकी टीम में तेजी से सुधार हो रहा है, लेकिन भारत के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए उन्हें बल्लेबाजी में गहराई की जरूरत है। श्रीलंकाई टीम भारत से 1-2 से वनडे सीरीज हार गई, लेकिन आखिरी वनडे मैच में जीत दर्ज की। आर्थर ने पहले टी20 मैच से पहले एक वर्चुअल प्री-मैच प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हम अब सभी विभागों में गहराई पैदा कर रहे हैं। हमें बस थोड़ी सी निरंतरता और अपनी बल्लेबाजी में  गहराई लाने की दरकार है।

आर्थर ने कहा कि कई कारणों से हम मैदान पर अपनी सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजी लाइनअप नहीं उतार पाते है। मेरे हिसाब से हम गहराई पैदा करने  और निंरतर रहने की कोशिश कर रहे हैं। खिलाड़ियों को स्पष्ट भूमिकाएं देने के साथ-साथ उन्हें मैदान पर  आजादी के साथ खेलने की अनुमति भी होती है। हमने पिछले मैच में चरित असलंका में इसका एक बहुत अच्छा उदाहरण देखा। उन्होंने आगे कहा, 'मैंने इन खिलाड़ियों में जो विकास देखा है वह शानदार है। यह उन्हें आत्मविश्वास और निरंतरता से मिला है। हम भविष्य में इसका फल निश्चित रूप से देखेंगे।'

आर्थर ने यह भी कहा कि श्रीलंकाई टीम ने भारत के खिलाफ वनडे सीरीज से काफी कुछ सीखा है। उन्होंने कहा, ' अभी यह हमारे सफर की शुरुआत है। हमने कुछ बेंचमार्क तय किए हैं, जिन्हें हम हर मैच में हासिल करना चाहते हैं। हम खुद को माप रहे हैं और हमारी प्रगति अच्छी हो रही है। हम बेहतर और बेहतर हो रहे हैं।'

मुख्य कोच को 'उम्मीद' है कि भारत के खिलाफ दूसरे वनडे में तीन विकेट लेने वाले युवा लेग स्पिनर वानिंदु हसरंगा पहले टी20 के लिए उपलब्ध होंगे। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि श्रीलंका को लिमिटेड फॉर्मेंट क्रिकेट में कुछ सुधार करने की जरूरत है। आर्थर ने रविवार को भारत के खिलाफ जीत को 'शानदार जीत' बताया। उन्होंने कहा, 'हम संघर्ष कर रहे थे, हमारा व्हाइट बॉल क्रिकेट कहीं जाता नहीं दिख रहा था। हम रैंकिंग में आठवें या नौवें स्थान पर हैं और हमें इसमें कुछ सुधार और बदलाव की जरूरत हैं। हमें टीम को फिर से बनाने और खड़ा जरूरत हैं। हमें 2023 विश्व कप के लिए सभी एक टीम तैयार करने की जरुरत है।'

Edited By: Tanisk