पुणे, पीटीआइ। India vs South Africa Bharat Arun: भारतीय टीम और मेहमान टीम साउथ अफ्रीका के बीच 10 अक्टूबर से पुणे में तीन मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला खेला जाना है। इस मैच से दो दिन पहले ट्रेनिंग सेशन के बाद भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने कहा है कि वे अपनी टीम के गेंदबाजों के प्रदर्शन से खुश हैं।

भरत अरुण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा है कि भारतीय गेंदबाजों ने अपने कौशल के बूते पिच की प्रकृति का असर खुद के प्रदर्शन पर नहीं पड़ने दिया। मोहम्मद शमी ने विशाखापत्तनम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में दूसरी पारी में नीची और धीमी पिच पर शानदार प्रदर्शन किया, जबकि पिच के स्पिनरों के मुफीद होने की उम्मीद थी जिस पर रविचंद्रन अश्विन ने तब सात विकेट हासिल किए जब बल्लेबाजों को मदद मिल रही थी।

हर हालात में ढलना होगा

पूर्व भारतीय खिलाड़ी भरत अरुण ने गेंदबाजी इकाई के साथ बेहतरीन प्रदर्शन किया है। गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने मंगलवार को कहा, "हमें जो पिचें मिलती हैं हम उनकी मांग नहीं करते। हमें दुनिया की नंबर एक टीम बनने के लिए जो भी परिस्थितियां मिलें, उन्हें घरेलू हालात के रूप में स्वीकार करना होगा।" उन्होंने कहा कि परिस्थितियों पर निर्भर रहने के बजाय हम कौशल पर ध्यान दे रहे हैं।

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज भरत अरुण ने आगे कहा, "जब हम किसी विदेशी दौरे पर जाते हैं तो हम विकेट के ऊपर ध्यान नहीं देते। हम कहते हैं कि हम इसे घरेलू परिस्थितियों के रूप में देखेंगे क्योंकि विकेट दोनों टीमों के लिए समान ही है। हम विकेट पर ध्यान देने के बजाय अपनी गेंदबाजी पर काम करेंगे।" यही कारण है कि लगातार भारतीय टीम के गेंदबाजी स्तर में सुधार देखने को मिल रहा है।

उधर, साउथ अफ्रीका के कप्तान फाफ डुप्लेसिस ने गेंदबाजी के अनुकूल विकेट बनाने की वकालत की है। बता दें कि दक्षिण अफ्रीका को तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में 203 रन से हार मिली थी। इस मैच की दोनों पारियों रोहित शर्मा ने शतक जड़ा था। वहीं, दूसरे सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने पहली पारी में दोहरा शतक जड़ा। हालांकि, साउथ अफ्रीका की ओर डीन एल्गर और क्विंटन डिकॉक ने शतकीय पारियां खेली थीं, लेकिन टीम को हार का सामना करना पड़ा। इस हार के पीछे मेहमान टीम की सबसे बड़ी वजह रही गेंदबाजी और दूसरी पारी में बल्लेबाजी।

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप