नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और इंग्लैंड के बीच पांचवां टेस्ट मैच मैनचेस्टर में शुक्रवार से खेला जाना था, लेकिन कोविड-19 महामारी ने इस मैच को अपनी चपेट में ले लिया। इस मैच से पहले टीम इंडिया के सहायक फिजियो भी कोविड पाजिटिव पाए गए थे। हालांकि बाद में खिलाड़ियों के भी टेस्ट किए गए और वो सब निगेटिव आए, फिर भी सुरक्षा के दृष्टिकोण से दोनों बोर्ड ने आपसी सहमति के बाद इस मैच को कैंसल कर दिया गया और ये फैसला लिया गया कि, इसे भविष्य में आयोजित किया जाएगा। 

अब जरा पीछे चलते हैं कि, आखिर टीम इंडिया कैंप में कोविड-19 महामारी के दस्तक कैसे दी। दरअसल रवि शास्त्री ने कुछ दिनों पहले अपनी किताब को लांच किया था और उनके साथ विराट कोहली भी मौजूद थे। इसी दौरान टीम के कोच इस महामारी की चपेट में आए थे और चौथे टेस्ट मैच के दौरान शास्त्री समेत चार भारतीय सपोर्ट स्टाफ को आइसोलेट किया गया था। हालांकि चौथा टेस्ट मैच खेला गया था जिसमें टीम इंडिया को जीत मिली थी, लेकिन पांचवें टेस्ट मैच से पहले फिर से सहायक फिजियो पाजिटिव पाए गए और यहीं से सारा खेल बिगड़ गया क्योंकि वो खिलाड़ियों के संपर्क में थे। कहा जा रहा था कि, कोच रवि शास्त्री और कप्तान कोहली से बोर्ड नाराज है और इनके खिलाफ एक्शन भी लिया जा सकता है। 

इन सारी बातों के बीच अब दैनिक जागरण को बीसीसीआइ के एक अधिकारी ने बताया कि, 'मैच बेशक कैंसल हो गया हो, लेकिन इसे लेकर किसी के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया जाएगा। कोरोना किसी को भी हो सकता है और इसमें किसी कोच या फिजियो की क्या गलती है।' आपको बता दें कि, पांचवां टेस्ट मैच कैंसल करने के पीछे बड़ी वजह ये भी है कि, इस टेस्ट सीरीज के बाद टीम इंडिया को सीधे यूएई जाना है जहां पर भारतीय खिलाड़ी अपनी-अपनी टीमों के साथ जुड़ेंगे। ये खिलाड़ी इन टीमों द्वारा बनाए गए बायो-बबल में सीधे प्रवेश करेंगे। इससे  पहले खिलाड़ियों का पूरी तरह से ठीक होना बेहद जरूरी है। वहीं आइपीएल के ठीक बाद भारतीय खिलाड़ियों को टी20 वर्ल्ड कप में भी हिस्सा लेना है जो 17 अक्टूबर से शुरू होगा। 

Edited By: Sanjay Savern