नई दिल्ली। भारत के युवा चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने अपने सहयोगी खिलाड़ी लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल और के साथ अपनी पार्टनरशिप और भारत की सफलता में योगदान के बारे में बातचीत की। उन्होंने कहा कि चहल और मैंने एक शानदार पार्टनरशिप की शुरुआत की है। हम लगभग पांच वर्षों से साथ में खेल रहे हैं और हम एक-दूसरे की रणनीति को अच्छी तरह से समझते हैं। हम दोनों मैच में मिलकर गेंदबाजी करते हैं और इससे विरोधी बल्लेबाज पर दबाव बनता है। मैदान पर हम दोनों पिच के बर्ताव पर बात करते हैं कि गेंद गिरने के बाद किस तरह से जाएगी। 

पिछले कुछ मैचों से कुलदीप और युजवेंद्र भारतीय टीम की नई स्पिन जोड़ी के तौर पर सामने आए हैं जैसे कि पहले अश्विन और जडेजा की जोड़ी थी। इन दोनों की जोड़ी ने पिछले पांच वनडे मैचों में कुल 13 विकेट लिए हैं जिसमें श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज शामिल है। कुलदीप ने कहा कि मैं बदलाव के बारे में नहीं सोचता। अश्विन और जेडजा ने भारत के लिए टेस्ट और वनडे दोनों प्रारूप में अच्छा प्रदर्शन किया है। 

कुलदीप यादव ने महान लेग स्पिनर शेन वॉर्न और ब्रैड हॉग के बारे में भी बात की। शेन के बारे में उन्होंने कहा कि मैं उन्हें बचपन से फॉलो कर रहा हूं। अगर मैं उनकी तरह 50 फीसदी भी प्रदर्शन कर पाया तो मेरी जिंदगी सफल हो जाएगी। गेंदबाजी में उनके रिस्ट का कमाल, फ्लाइल गेंदों और बल्लेबाजों को छकाने का तरीका कमाल का है। ब्रैड हॉग के साथ कुलदीप दो वर्षों तक कोलकाता नाइट राइडर्स टीम में साथ काम किया है। कुलदीप ने कहा कि मुझे जब भी मौका मिलता था मैं उनसे बात करता था। सीनियर खिलाड़ी से सलाह लेना सचमुच काफी अहम है। उन्होंने मुझे गेंदबाजी की बारिकीयों के बारे में बताया जिससे मुझे काफी मदद मिली। 

उनके तकनीक के बारे में बात करते हुए कुलदीप ने कहा कि मैं कोई रहस्यमयी गेंदबाज नहीं हूं। मैं अपने बेसिक की तरफ ध्यान देता हूं साथ ही गेंद को कंट्रोल करने और अपनी ताकत पर काम करता हूं। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस