नई दिल्ली, जेएनएन। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज स्पिनर शेन वार्न ने आईसीसी विश्व कप फाइनल में विवाद का मुद्दा बने ओवर थ्रो पर अपनी राय दी है। वार्न का मानना है फाइनल में बेन स्टोक्स को लगने वाली थ्रो को डेड बॉल दिया जाना चाहिए था।

वार्न एमसीसी की विश्व क्रिकेट समिति के सदस्य हैं। इस समिति को फाइनल में अंपायरों द्वारा दिए निर्णय की समीक्षा करनी है। इंग्लैंड में इसी साल 14 जुलाई को खेले गए विश्व कप फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ बल्लेबाजी के दौरान आखिरी ओवर में मार्टिन गुप्टिल की गेंद बल्लेबाजी कर रहे स्टोक्स को लगकर बाउंडरी पार चली गई थी।

अंपायर कुमार धर्मसेना द्वारा ओवरथ्रो पर दिए गए चार रन को लेकर काफी विवाद हुआ था है। इन चार रन की वजह से ही मैच बराबर रहा और मुकाबला सुपर ओवर तक गया जहां इंग्लैंड की टीम को टाई के बाद विजेता घोषित कर दिया गया।

आईएएनएस से बात करते हुए वॉर्न ने कहा, “मैं उस समिति का हिस्सा हूं जो इसकी समीक्षा कर रही है। मुझे लगता है खेल का कानून बिल्कुल सही है। मैंने यह सुझाव दिया है कि गेंद बल्लेबाज के शरीर पर लगती है तो फिर गेंद डेड बॉल होनी चाहिए, फिर चाहे वह चौके के लिए ही क्यों ना चली गई हो। यह गेंद तो डेड बॉल होनी चाहिए और आप इस पर दौड़ नहीं सकते। मेरे हिसाब से खेल भावना यही है।"

आईसीसी द्वारा शुरू की गई टेस्ट चैम्पियनशिप को लेकर वार्न काफी उत्साहित नजर आए। उन्होंने कहा, "मुझे विश्व टेस्ट चैंपियनशिप काफी पसंद है और मेरी तो चाहत थी कि आईसीसी ने इसकी और ज्यादा मार्केटिंग की होती और इसपर थोड़ा और पैसा लगाया होता तो इसे और भी ज्यादा प्रमोट कर पाते। यह बात मुझे पसंद आई कि अब इसकी वजह से सभी टेस्ट मैच ज्यादा महत्व देने लगेंगे। इस बात का पूरा यकीन है कि आने वाले समय में इसको सही कर लिया जाएगा। ऐसा लगता है कि इस बार इसे पूरी तरह से सही से लागू किया है।"

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस