नई दिल्ली, एजेंसी। कोरोना वायरस संक्रमण ने पूरी दुनिया को मुश्किल में डाल दिया है। इस महामारी से अब तक लाखों लोग अपनी जांच गंवा चुके हैं। पूरी दुनिया में इससे बचाव के उपाय किए जा रहे हैं। कोरोना वायरस के कहर के बीच क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था आइसीसी ने क्रिकेट बहाली के लिए नए नियम और गाइडलाइंस जारी कर दी है।

आइसीसी ने शुक्रवार को अपने दिशानिर्देशों में मुख्य चिकित्सा अधिकारी की नियुक्ति और 14 दिन तक अलग थलग अभ्यास शिविर लगाने की सिफारिश की। आइसीसी ने दुनिया भर में क्रिकेट की बहाली के लिए व्यापक दिशानिर्देश जारी किए और साथ ही उच्च सुरक्षा प्रोटोकॉल बनाए रखने पर भी ध्यान दिया।

आइसीसी ने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी या जैव सुरक्षा अधिकारी की नियुक्ति पर विचार करें जो सरकारी दिशानिर्देशों तथा अभ्यास और प्रतियोगिता की बहाली के लिए जैव सुरक्षा योजना लागू करने के लिए जिम्मेदार होगा।

आइसीसी के दिशानिर्देशों में कहा गया है कि मैच से पूर्व अलग थलग अभ्यास शिविर के आयोजन, स्वास्थ्य, तापमान जांच और कोविड-19 परीक्षण की जरूरत पर विचार करें। यात्रा से कम से कम 14 दिन पहले सुनिश्चित करें कि टीम कोविड-19 से मुक्त है। 

जल्दी ही शुरू होगा क्रिकेट

वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड की तरफ से भी इंग्लैंड के दौरे को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम पर ही भेजने की बात कही गई है। 4 जून से विंडीज टीम को इंग्लैंड के साथ टेस्ट सीरीज में खेलना है। वहीं पाकिस्तान क्रिकेट टीम ने अगस्त में इंग्लैंड के दौरे पर जाने की घोषणा कर दी है। 

गेंद पर लार के इस्तेमाल पर रोक की सिफारिश 

इसी सोमवार को अनिल कुंबले की अध्यक्षता वाली आईसीसी क्रिकेट कमेटी ने कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को देखते हुए गेंद को चमकाने के लिए लार के इस्तेमाल पर पाबंदी लगाने की सिफारिश की है। कमेटी की सिफारिश को ICC Chief Executives’ Committee से सामने रखा जाएगा। जुलाई में इसके पास होने की उम्मीद की जा रही है।  

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस