नई दिल्ली, जेएनएन। Ind vs Aus: सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ डे-नाइट एडिलेड टेस्ट में फ्लॉप रहे थे। ऐसे में शुभमन गिल को मौका मिला। मेलबर्न में किए गए डेब्यू में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया और अपने प्रशंसकों को खुश कर दिया। तीन टेस्ट मैचों में में शुभमन गिल ने 51.80 के शानदार औसत से 259 रन बनाए। उन्होंने 91 के शीर्ष स्कोर के साथ दो अर्धशतक बनाए और वे ऑस्ट्रेलिया में अच्छी लय में दिखे, लेकिन वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज इयान बिशप ने कहा कि शुभमन गिल की बल्लेबाजी में एक तकनीकी गड़बड़ (Technical Glitch) है, जिसे भविष्य में गेंदबाज भुना सकते हैं।

दिग्गज कमेंटेटर और क्रिकेट एक्सपर्ट इयान बिशप ने कहा है कि शुभमन गिल लेग साइड डोमिंनेंट बैट्समैन (जो बल्लेबाज ज्यादा शॉट ऑन साइड में खेले) हैं। उन्होंने गिल की तुलना वीरेंद्र सहवाग से की है, जो अटैकिंग क्रिकेट के लिए जाने गए। बिशप ने कहा है, "उनकी बल्लेबाजी तकनीक में एक गड़बड़ है, जिसके बारे में मैं चिंतित था। वह अक्सर लेग स्टंप या गेंद के लेग साइड से खेलते हैं, जो सीमर्स को चौथे या पांचवें स्टंप के आसपास चुनौती देने के लिए प्रोत्साहित करता है और आउट साइड एज को खेल में लाता है।"

उन्होंने आगे कहा, "एक तरह से वीरेंद्र सहवाग ऐसा कुछ करते थे और वह एक खिलाड़ी के लिए बहुत बुरा नहीं था। ब्रिसबेन में अपनी अंतिम पारी में, वह कई बार अपने स्टंप्स के पार आ गए और अपने हाथों को अपने शरीर से बहुत दूर जाने दिया, जहां उनकी आंखें गेंद से दूर हो गईं। इसलिए, वह इसके बारे में जानते हैं और इसे अपनाने के लिए तैयार हैं। यदि वह इसे हासिल कर सकता है, तो वह लगभग सभी परिस्थितियों में स्कोर करना जारी रख सकेंगे।"

हालांकि, अपने 10 साल के लंबे अंतरराष्ट्रीय करियर में 127 मैचों में 279 विकेट लेने वाले बिशप, गिल की बिना किसी परेशानी के शॉर्ट गेंदों को खेलने की क्षमता से प्रभावित थे। उन्होंने स्पोर्ट्स्टार से बात करते हुए आगे कहा, "ऑस्ट्रेलिया में, उन थोड़े बाउंसी पिचों पर, गिल की सही तरीके से खेलने और आगे बढ़ने की क्षमता, छोटी गेंद को ऊपर से मारने की तकनीक अच्छी थी। यह एक उपमहाद्वीपीय बल्लेबाजों की नई पीढ़ी की पहचान है।"

Ind-vs-End

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप