नई दिल्ली, आईएएनएस। भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने भारत में 2016 के टी20 विश्व कप में बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए रोमांचक मुकाबले को याद किया है। उन्होंने बताया कि कैसे पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी की रणनीति ने टीम को उस मैच में जीत दिलाई थी। आखिरी गेंद पर धौनी ने तेज दौड़ लगाकर रन आउट कर मैच मैच जिताया था।

बांग्लादेश के खिलाफ 2016 का ग्रुप मुकाबला बहुत ही ज्यादा रोमांचक था। टीम ने आखिरी तीन गेंद पर तीन विकेट गंवाए थे (दो कैच और एक रन आउट) जिसकी वजह से भारतीय टीम ने 1 रन से जीत हासिल की थी। एक समय भारत मैच में हारा लग रहा था आखिरी ओवर में 11 रन चाहिए थे।

हार्दिक पांड्या के ओवर की तीन गेंद पर 9 रन बन चुके थे। मुशफिकुर रहीम ने दो लगातार चौके लगाकर इसके बाद धौनी ने हार्दिक से बात की और फील्डिंग में बदलाव किया। अंतिम तीन गेंद पर तीन विकेट गिरे और भारत ने मैच 1 रन से जीत लिया।

Cricbuzz से बात करते हुए हार्दिक ने बताया, "अगर मैं भी उस समय उनकी जगह होता तो 1 रन लेकर जीत पक्की करता और उसके बाद ही बड़ा शॉट लगाता। मुझे लगता है कि वह सबसे मुश्किल गेंद होती है अगर कोई एक रन लेना चाहता हो।" 

"मैंने सोचा कि बैक ऑफ लेंथ एक ऐसी गेंद है जिसे आप मारना चाहेंगे तो आसान नहीं होगा और अगर आप एक रन भी लेना चाहेंगे तो भी यह मुश्किल होगा क्योंकि आपको इसे अच्छे से खेलना पड़ेगा। उन्होंने बड़ा शॉट लगाने की कोशिश की और आउट हो गए। इसके बाद अगली गेंद पर मैंने यॉर्कर डाला और यह एक फुल टॉस बन गया। यह बस किस्मत थी ऐसा हुआ क्योंकि इसे होना ही था। मैंने वहां कुछ भी खास नहीं किया।"

पांड्या ने बताया कि आखिरी वक्त पर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धौनी, आशीष नेहरा और उनके बीच क्या बात हुई। उन्होंने बताया कि दोनों ही खिलाड़ियों ने उनको बाउंसर डालने का सुझाव दिया था और उन्होंने बिल्कुल वैसा ही किया। "मुझे ठीक से तो याद नहीं है कुछ लोग मुझे सुझाव दे रहे थे, बाउंसर करो, लेकिन हम ऐसा करने के बारे में नहीं सोच रहे थे क्योंकि माही भाई और आशु भाई ने कहा ता कि नीचले क्रम का बल्लेबाज अगर बल्ला घुमाए और उपरी किनारा लग जाए तो गेंद कीपर के सिर के उपर से निकल जाएगी। उन्होंने कहा कि ऑफ साउड स्टंप के बाहर गेंद डालों। मैं थोड़ा ज्यादा ही वाइड डाला था और इसके बाद तो जैसे मैं अपनी आवाज ही खो बैठा।" 

धौनी आखिरी गेंद पर एक हाथ के दस्ताने खोलकर पहले से तैयार थे गेंद पकड़ते ही तेजी से दौड़ लगाई, इससे पहले ही मशरफे मुर्तजा रन पूरा करते उन्होंने गिल्लियां उड़ा दी।

 

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस