नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और इंग्लैंड के बीच इस वक्त चार मैचों की टेस्ट सीरीज का चौथा मुकाबला अहमदाबाद में खेला जा रहा है। नरेंद मोदी स्टेडियम में खेले जा रहे इस मैच का आज (गुरुवार) को पहला दिन था। भारत ने इंग्लैंड को पहली पारी में अक्षर पटेल और आर अश्विन की शानदार गेंदबाजी के दम पर महज 205 रन पर ऑलआउट कर दिया। मैच की कमेट्री के दौरान भारत के दिग्गज गेंदबाज ने अपने ऑस्ट्रेलिया दौरे की कहानी सुनाते हुए बताया कि कैसे उनको एक भी मैच खेलने नहीं मिला था और सिर्फ चाय बनाते रह गए थे।

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने अहमदाबाद टेस्ट में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। अक्षर और अश्विन की जोड़ी ने एक बार फिर से इंग्लिश बल्लेबाजों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया। दोनों ने मिलकर पहली पारी में 7 विकेट झटके जबकि मोहम्मद सिराज को 2 और वाशिंग्टन सुंदर को एक विकेट मिला। पहले दिन का खेल खत्म होने के वक्त भारत ने एक विकेट पर 24 रन बनाए थे। रोहित शर्मा (8) और चेतेश्वर पुजारा (15) बल्लेबाजी कर रहे थे।

मैच के दौरान कमेंट्री करते हुए भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह ने 1999 के ऑस्ट्रेलिया दौरे को याद किया। उनके साथी वीवीएस लक्ष्मण ने जब जिक्र किया कि कैसे उनको उस दौरे से अनुभव हासिल हुआ। इस पर भज्जी ने कहा कि उन्होंने तो दौरे पर सिर्फ चाय बनाना सिखा। ऑस्ट्रेलिया के उस दौरे पर जाने वाले हरभजन ने बताया कि वह ना तो कोई टेस्ट मैच खेले थे और ना ही किसी वनडे में मौका मिला।

कप्तान और खिलाड़ी मांगते थे चाय

हरभजन ने बताया कि कैसे उनसे टीम के कप्तान सौरव गांगुली और बाकी खिलाड़ी कहते थे चाय बना दोगे क्या। उन्होंने कहा, मैं तो उस दौरे पर एक ही चीज सीख पाया और वो चाय बनाना था। जो भी आता था मुझे चाय मांगता था और इसी वजह से मैं चाय बनाना सीख गया। यहां तक कि घर वापस लौटने के बाद मुझे घर वाले भी चाय मांगते थे तो मैं बनाया करता था।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप