नई दिल्ली, एजेंसियां। भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण के नाम एक ऐसा पारी दर्ज है जो इतिहास के पन्नों में दर्ज है। कोलकाता टेस्ट में भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फॉलोऑन खेलने के बाद भी जीत हासिल की थी। इस मैच में लक्ष्मण, द्रविड़ और हरभजन सिंह ने अहम भूमिका निभाई थी।

पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने अपनी संभावित निराशा को आक्रामकता में बदल दिया और इसी कारण उन्होंने एक दशक से अधिक समय तक अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 4 विकेट के नुकसान पर 166 रन बनाए थे और पूरी टीम 212 रन पर सिमट गई। यह सब हरभजन की चमत्कारी गेंदबाजी की वजह से हो पाया था। इस मैच के बाद से ही टेस्ट क्रिकेट में टीम ने फॉलोऑन होने के बाद भी टीम को बल्लेबाजी के लिए बुलाने के फैसले पर प्रभाव डाला। 

लक्ष्मण ने ट्विटर पर लिखा, "एक और खिलाड़ी जो आसानी से अपने करियर व निजी जीवन में मिले मुश्किल वक्त से भटक सकता था, उसने अपनी संभावित निराशा को आक्रामकता में बदल दिया। हरभजन ने करीब डेढ दशक से अपना सर्वश्रेष्ठ स्तर कायम रखा।"

लक्ष्मण और हरभजन कोलकाता में 2001 में खेले गए उस टेस्ट मैच का हिस्सा थे, जिसमें भारत ने ऑस्ट्रेलिया को मात दी थी। हरभजन ने उस मैच में हैट्रिक समेत 13 विकेट लिए थे और भारत ने पहली पारी में फॉलोआन से पिछ़़डने के बाद भी 171 रन से मैच जीता था।

 

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस