नई दिल्ली, पीटीआइ। क्रिकेट के चाहने वालों की दीवानगी हमें अक्सर देखने को मिलती है जब भी उनकी अपनी टीम जीत हासिल करती है या फिर हार का सामना करती है। जीत पर जहां फैंस दिल खोलकर जश्न मनाते हैं तो वहीं हार के बाद टीम के खिलाड़ियों पर अपना गुस्सा भी उतारते हैं। 2011 वनडे विश्व कप में ऐसा ही कड़वा अनुभव साउथ अफ्रीका के पूर्व कप्तान फाफ डु प्लेसिस को भी हुआ।

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान फाफ डुप्लेसिस ने एक बड़े खुलासा किया है। उन्होंने रहस्योद्घाटन किया कि न्यूजीलैंड के खिलाफ 2011 विश्व कप क्वार्टर फाइनल में गलतफहमी का शिकार होकर एबी डिविलियर्स के रन आउट हो गए थे। इसके बाद उन्हें और उनकी पत्नी को जान से मारने की धमकी मिली थी।

डुप्लेसिस ने कहा, 'मैच के बाद मुझे और मेरा पत्नी को जान से मारने की धमकी मिली थी। इंटरनेट मीडिया पर हमारी धज्जियां उड़ा दी गईं। यह काफी निजी हमला हो गया। काफी आपत्तिजनक चीजें कही गईं, जिन्हें मैं दोहरा नहीं सकता।'

मीरपुर के शेर-ए-बांग्ला स्टेडियम में खेले गए इस मैच में दक्षिण अफ्रीका को 49 रन से हार का सामना करना पड़ा था। इस हार के साथ ही टीम के टूर्नामेंट के सेमीफाइनल खेलने का सपना टूटा था और वह टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी। भारत के साथ बांग्लादेश टूर्नामेंट का सह मेजबान था। भारत ने महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी में श्रीलंका को फाइनल में हराकर विश्व कप का खिताब जीता था।

वनडे विश्व कप में साउथ अफ्रीका का प्रदर्शन

1992 में साउथ अफ्रीका की टीम ने सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। इसके बाद 1996 में टीम क्वार्टर फाइनल में पहुंची थी। टीम को इसके बाद अगले एडिशन में एक बार फिर सेमीफाइनल में हारकर बाहर होना पड़ा था। 2003 में टीम पहले दौर से बाहर हुई थी। इसके बाद के तीन विश्व कप में टीम ने सेमीफाइनल, क्वार्टर फाइनल और सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। साउथ अफ्रीका अब तक कभी भी सेमीफाइनल से आगे नहीं बढ़ पाई है इसी वजह से टीम को चोकर्स बुलाया जाता है। 

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप