जागरण संवाददाता, बागपत। स्टार भारतीय बल्लेबाज सुरेश रैना ने स्पॉट फिक्सिंग मामले में कोर्ट से बरी हुए क्रिकेटर एस श्रीसंत, अजीत चंदीला और अंकित चव्हाण का बचाव किया है। रैना ने कहा कि स्पॉट फिक्सिंग में इन क्रिकेटरों की कोई भूमिका नहीं थी और यह कोर्ट के फैसले से साफ हो चुका है।

रैना का कहना है कि मैच फिक्सिंग से खिलाड़ियों के मनोबल पर कोई फर्क नहीं पड़ता। आरोप लगते रहते हैं, लेकिन खिलाड़ी हमेशा दिल से खेलता है। शादी के बाद पहली बार पत्नी प्रियंका संग ससुराल बागपत पहुंचे रैना ने फिक्सिंग के सवाल पर कहा कि खेल कोई भी हो आरोप लगने तय हैं। क्रिकेटर का काम खेलना है। उस पर कौन, क्या आरोप लगा रहा है, कोई फर्क नहीं पड़ता। रैना ने कहा कि जांच का काम जिन लोगों का है वे जांच कर रहे हैं, खिलाड़ी का काम सिर्फ खेलना है।

भारतीय टीम का कप्तान बनने की इच्छा पर उन्होंने कहा कि कप्तान को भगवान नहीं बनाता, लोग अपनी मेहनत से कप्तान बनते हैं। हर खिलाड़ी कप्तान बनना चाहता है। धौनी और विराट विवाद को उन्होंने अफवाह बताया और कहा कि मैं दोनों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करता हूं। दोनों के बीच अच्छे संबंध हैं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस