नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने सूर्यकुमार यादव और पृथ्वी शॉ को शुभमन गिल, वाशिंगटन सुंदर और अवेश खान की चोटिल तिकड़ी के लिए रिप्लेसमेंट खिलाड़ियों के रूप में टीम में चुना था। सूर्यकुमार यादव और पृथ्वी शॉ इसी सप्ताह श्रीलंका से इंग्लैंड के लिए उड़ान भरने वाले थे, क्योंकि खिलाड़ी श्रीलंका के खिलाफ तीन-तीन मैचों की वनडे और टी20 सीरीज खेलने के लिए गए हुए थे। हालांकि, यहां उनके सामने एक बड़ी दिक्कत आ गई।

दरअसल, तीन मैचों की टी20 सीरीज के दूसरे मुकाबले से पहले ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या को COVID-19 से संक्रमित पाया गया। इसी वजह से पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार यादव की इंग्लैंड जाने की योजना भी खतरे में डल गई है, क्योंकि ये दोनों खिलाड़ी क्रुणाल पांड्या के संपर्क में आ गए थे। इस तरह इन्हें कुछ समय के लिए आइसोलेट कर दिया गया है। यही वजह है कि इन खिलाड़ियों को दूसरे टी20 मैच, जो एक दिन बाद खेला गया, उसमें प्लेइंग इलेवन जगह नहीं दी गई।

हालांकि, अच्छी बात ये है कि दोनों की कोविड-19 आरटी-पीसीआर रिपोर्ट नेगेटिव आई है, लेकिन यादव और शॉ इस समय अलग-थलग हैं और उनके जल्द ही यूके जाने की संभावना संदेह के घेरे में है। इसके अलावा कोरोना को लेकर इंग्लैंड सरकार के सख्त COVID-19 प्रोटोकॉल हैं, जिसके कारण दोनों को देश में प्रवेश करने की अनुमति भी नहीं मिल सकती। ऐसे में 4 अगस्त से शुरू हो रहे टेस्ट सीरीज से पहले भारतीय टीम मैनेजमेंट के सामने एक चुनौती है। वहीं, उनके रिप्लेसमेंट के बारे में भी विचार किया जा रहा है।

गुरुवार (29 जुलाई) को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ के एक शीर्ष अधिकारी ने इनसाइडस्पोर्ट से पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार यादव के रिप्लेसमेंट की टीम की योजना के बारे में बात की। बीसीसीआइ के अधिकारी ने कहा, "हम इस स्तर पर निश्चित रूप से कुछ नहीं कह सकते। हमें अगले कुछ दिनों तक यह तय करना होगा कि नए रिप्लेसमेंट की घोषणा की जाए या नहीं।" ऐसा इसलिए भी है, क्योंकि मौजूदा हालातों को देखते हुए पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार यादव श्रीलंका में क्वारंटाइन में 6 अगस्त तक रहना होगा।

इसके बाद वे 7 अगस्त को इंग्लैंड की उड़ान भर सकेंगे। हालांकि, वहां भी इन खिलाड़ियों को 10 दिन क्वारंटाइन में रहना पड़ सकता है और इस स्थिति में ये पहले तीन मैच मिस कर सकते हैं। इंग्लैंड में कोरोना को लेकर कड़े नियम हैं और भारत और श्रीलंका से आने वाले लोगों के लिए 10 दिन क्वारंटाइन में रहने का प्रोटोकॉल है।

Edited By: Vikash Gaur