नई दिल्ली, जेएनएन। बाबर आजम को सरफराज अहमद की जगह पाकिस्तान वनडे क्रिकेट टीम का कप्तान बनाया गया, उन्हें ये जिम्मेदारी लगातार उनके अच्छे प्रदर्शन की वजह से दी गई। बेशक बाबर को कप्तान बना दिया गया, लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर शोएब अख्तर और राशिद लतीफ का ये मानना है कि 25 साल का ये खिलाड़ी अभी लीडरशिप रोल के लायक नहीं है यानी वो इसके लिए तैयार नहीं हैं। 

इस महीने की शुरुआत में ही बाबर आजम को पाकिस्तान वनडे टीम का भी कप्तान बना दिया गया। वनडे टीम का कप्तान बनने के बाद बाबर ने कहा कि वो क्रिकेट के इस प्रारूप में टीम के पूर्व कप्तान इमरान खान का अनुकरण करना चाहते हैं। कप्तान बनने के बाद बाबर आजम ने पहला प्रेस कांफ्रेंस किया और इस दौरान उन्होंने जो बातें कही उससे भी शोएब अख्तर और राशिद लफीफ इंप्रेस नजर नहीं आए। इस प्रेस कांफ्रेंस में बाबर ने पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर तनवीर अहमद की उस बात का जवाब दिया था जिसमें उन्होंने कहा था कि बाबर को अपनी इंग्लिश बोलने की कला को इंप्रूव करने की जरूरत है। 

बाबर ने कहा कि मेरा काम क्रिकेट खेलना है। मैं गोरा नहीं हूं जो पूरी तरह से इंग्लिश जानते हैं। हां मैं इस पर काम कर रहा हूं, लेकिन इसे सीखने में लंबा वक्त लगता है। आप इसे तुरंत नहीं सीख सकते हैं। बाबर का इस तरह से जवाब देने ने नाखुश शोएब अख्तर ने कहा कि वो इमरान खान की तरह बनना चाहते हैं, लेकिन उनके लेवल तक पहुंचने के लिए उसे अपने व्यक्तित्व और संचार कौशल (कम्यूनिकेशन स्किल) को तेज करने की आवश्यकता होगी।

शोएब अख्तर ने कहा कि बाबर आजम इमरान खान जैसा कप्तान बनना चाहते हैं, लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि ये सिर्फ क्रिकेट खेलने को लेकर ही है। उन्हें इमरान खान की व्यक्तित्व संबंधी किताब से एक पत्ती निकलाने की जरूरत होगी, जिससे कि वो सीख सकें। आप कृप्या उन चीजों के बारे में ना बोलें जो हम पिछले 10 साल से जानते हैं। बाबर को अपने संचार कौशल, अपने व्यक्तित्व, सामने से नेतृत्व करने की क्षमता, फिटनेस स्तर आदि को और बेहतर करना होगा, मुझे लगता है कि उनके पास साबित करने के लिए बहुत कुछ है। शोएब ने ये बातें यू ट्यूब शो वाजी स्पोर्ट्स पर कही। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस