नई दिल्ली, जेएनएन। पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया टीम में ग्लैन मैक्सवेल को नहीं चुनना हर किसी को हैरान कर रहा है। कुछ दिन पहले ही रिकी पोंटिंग ने इस फैसले पर नाराजगी जताई थी और अब टीम से बाहर होने के बाद मैक्सवेल ने पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है। मैक्सवेल ने कहा कि उन्हें जब ये खबर मिली तो उन्होंने सफेद जर्सी और ऑस्ट्रेलिया टेस्ट टीम की हरी कैप ही पहन रखी थी। मैक्सवेल उस समय किसी ऐड के लिए उस जर्सी में थे जब उन्हें ये खराब सूचना मिली।

ऑस्ट्रेलिया चयनकर्ता ने पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए 15 सदस्य टीम में 5 नए खिलाड़ियों को शामिल किया है, इसी वजह से सवाल उठ रहे हैं कि क्या मैक्सवेल इतने खराब है कि उन्हें इस टीम में भी जगह नहीं मिल पाई। वहीं टीम से बाहर होने पर मैक्सवेल ने कहा कि इस सीरीज से बाहर होना दुखद है। 

ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल ने बताया कि जब वह सफेद जर्सी और हरी कैप पहने हुए बैठे थे उसी दौरान उन्हें फोन पर राष्ट्रीय टेस्ट टीम में नहीं चुने जाने की निराशाजनक सूचना मिली थी। मैक्सवेल को अक्टूबर में पाकिस्तान के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया की टीम में नहीं चुना गया है जबकि चयनकर्ताओं ने 15 सदस्यीय इस टीम में पांच नवोदित खिलाड़ियों को शामिल किया है। 

मैक्सवेल ने कहा कि मुझे ये बात को पचाने में काफी समय लग गया। यह सुनने में थोड़ा अजीब लग सकता है लेकिन जब मुझे फोन आया तो उस समय मैंने टेस्ट जर्सी बैगी ग्रीन पहनी हुई थी। दरअसल मैं एक ऐड के लिए फोटोशूट कर रहा था और उस समय ग्रीन कैप मेरे सिर पर थी।

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने भी मैक्सवेल को टीम से बाहर करने पर नाराजगी जताई थी। पोंटिंग ने ग्लेन मैक्सवेल को आस्ट्रेलिया टीम से हटाने के फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि अगर वह मैक्सेवल के स्थान पर होते तो इस फैसले से बेहद गुस्सा होते।

एक बयान में पोंटिंग ने कहा, अगर मैं मैक्सवेल के स्थान पर होता, तो सोचता कि उन्होंने मुझे टीम में शामिल होने का मौका क्यों नहीं दिया। मेरे लिए यह सब अजीब है। अगर मैं मैक्सेवल की जगह होता, तो टीम में शामिल न किए जाने के लिए गुस्सा होता।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Lakshya Sharma