लंदन, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के उप कप्तान अजिंक्य रहाणे ने कहा कि मौजूदा सीरीज में बल्लेबाजों ने हमारे गेंदबाजों को असफल कर दिया। भारतीय टीम गेंदबाजों के आगे कई बार ऑलआउट हुई और नतीजतन इंग्लैंड ने सीरीज में 3-1 की बढ़त बना ली।

अपने करियर का 50वां टेस्ट खेलने की दहलीज पर खड़े रहाणे ने कहा कि संयम इंग्लैंड में सफल होने के लिए बेहद जरूरी है। फिर चाहे आप गेंदबाजी कर रहे हों या फिर बल्लेबाजी। आपको एक ही जगह पर लंबे समय तक गेंदबाजी करनी होती है। हो सकता है एक बल्लेबाज के तौर पर आपको लंबे समय तक गेंद को छोड़ना पड़ सकता है। हमें बेहद बुरा लग रहा है कि हमारे गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी की, लेकिन हम एक बल्लेबाजी इकाई की तरह से उन्हें मदद नहीं कर सके। जब आप दौरे पर होते हैं तो आप बेहद मेहनत करते हैं और अच्छी तैयारी करते हैं। अगर एक विभाग अच्छा करता है तो यह दूसरे की जिम्मेदारी बनती है कि उनका बचाव करे।

रहाणे ने कहा कि मैंने भी यहां ज्यादा रन नहीं बनाए, लेकिन मैंने दो मैचों में 50 और 80 रन से ज्यादा के स्कोर बनाए। मेरे बल्ले पर काफी अच्छी गेंद आ रही थी। बल्लेबाजी आत्मविश्वास पर निर्भर है। मैं अपनी टीम के लिए कुछ और ज्यादा करना चाहता था। आखिरी मैच में मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया और मैंने इसके लिए काफी अच्छी तैयारी की थी। रहाणे ने कहा कि विश्व की नंबर एक टीम इस दौरे को जीत के साथ समाप्त करना चाहती है। रहाणे ने कहा कि बेशक हम इस मुकाबले को जीतना चाहते हैं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal