रायपुर, ब्यूरो। एकात्मक मानववाद के प्रवर्तक व जनसंघ के संस्थापक सदस्य पंडित दीनदयाल उपाध्याय पर सोशल मीडिया में टिप्पणी कर फंसे भारतीय प्रशासनिक सेवा के अफसर शिवअनंत तायल ने राज्य सरकार को नोटिस का जवाब भेज दिया है। उन्होंने अंग्रेजी में सामान्य प्रशासन विभाग को जवाब भेजा है। तायल ने अपने स्पष्टीकरण में क्या कहा है, इस बारे में अधिकृृत रूप से कोई खुलासा नहीं किया गया है। लेकिन सूत्र बताते हैं कि तायल ने अपने जवाब में पंडित दीनदयाल उपाध्याय पर फेसबुक पोस्ट में की गई टिप्पणी को लेकर माफी मांग ली है। विभाग अब उनके जवाब का परीक्षण करेगा। जवाब असंतोषषजनक पाए जाने पर उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।
गौरतलब है कि 29 अक्टूबर तक उन्हें नोटिस का जवाब देना था, लेकिन उनके आवेदन पर सरकार ने जवाब देने के लिए एक हफ्ते का समय और दिया था। 2012 बैच के आईएएस तायल ने फेसबुक पर डाली गई अपनी एक पोस्ट में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की उपलब्धियों पर सवाल उठाए थे। सरकार ने उनके इस फेसबुक पोस्ट को संज्ञान में लिया और उन्हें कारण बताओ नोटिस दिया था। साथ ही उन्हें जिला पंचायत कांकेर के सीईओ पद से हटाकर मंत्रालय अटैच कर दिया गया। हालांकि तायल ने उसी दिन देर रात फेसबुक पर माफी भी मांग ली थी। तायल के विवादास्पद पोस्ट को लेकर भाजपा नेता भी नाराज बताए जाते हैं।

क्या था तायल का पोस्ट
तायल ने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि-- उपाध्याय का लेखक या विचारक के रूप में एक भी ऐसा काम नहीं है, जिससे उनकी विचारधारा समझी जा सके। वेबसाइटों में ढूं़$ढने पर एकात्म मानवतावाद पर उनके सिर्फ चार लेक्चर मिलते हैं। वे भी वह पहले से स्थापित आइडियाज थे। उपाध्याय ने कोई चुनाव भी नहीं ल़$डा। इतिहासकार रामचंद गुहा की पुस्तक मेक्स ऑफ मार्डन इंडिया में आरएसएस के तमाम ब़डे लोगों का जिक्र है, लेकिन दीनदयाल उपाध्याय की कोई चर्चा नहीं है। तायल ने पोस्ट के आखिरी में पूछा है कि मेरी अकादमिक जानकारी के लिए कोई तो पंडित उपाध्याय के जीवन पर प्रकाश डाले। जवाब के संबंध में आईएएस तायल से संपर्क कर जानकारी लेने का प्रयास किया गया, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।
अदालत में मामला
भाजपा नेता सच्चिदानंद उपासने तायल के खिलाफ इस मामले में अदालत में गए हैं। उनका कहना है कि हमने भी तायल को कानूनी नोटिस भेजी है, उसका जवाब नहीं आया है, जवाब आने के बाद आगे की कार्रवाई सुनिश्चत की जाएगी।

'पंडित दीनदयाल उपाध्याय पर सोशल मीडिया में टिप्पणी के मामले में आईएएस शिवअनंत तायल का जवाब मिल गया है। उनके जवाब का शासन द्वारा परीक्षण किया जा रहा है। परीक्षण के बाद इस पर निर्णय लिया जाएगा।' - निधि छिब्बर, सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग।

पढ़ें:चातुर्मास के चलते लगी है विवाह पर रोक, देवउठनी एकादशी पर हटेगी ये रोक

पढ़ें:सोशल मीडिया पर दुनियाभर में ट्रेंड करता रहा मोदी का छत्तीसग़ढ दौरा

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप