रायपुर, ब्यूरो। छत्तीसग़ढ के तीन दिवसीय प्रवास पर राजधानी आए योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि कोई भी नेता या दल अच्छे दिन नहीं ला सकता है। अच्छे दिन के लिए सरकारों को ईमानदारी से काम करना चाहिए। बाबा ने सोमवार को पत्रकारों से चर्चा में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीयत अच्छी है और वे वोट बैंक नहीं, देश बनाने का काम कर रहे हैं, लेकिन जनता सभी काम राजनीतिक पार्टियों से कराना चाहती है, यह सोच सही नहीं है। अच्छे दिन के लिए सरकार और समाज को साथ मिलकर काम करना होगा।
बाबा रामदेव ने बताया कि भिलाई में मंगलवार को एक लाख से ज्यादा लोग एकसाथ योग करके विश्व रिकॉर्ड बनाने जा रहे हैं। योग को राजनीतिक पहचान नहीं मिली थी, लेकिन नरेंद्र मोदी के नेतृृत्व में राजनीतिक सम्मान मिला है।

रामदेव ने कहा कि वे भोग के ग्लैमर की जगह योग का ग्लैमर बिखरने के लिए यहां पहुंचे हैं। काले धन के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि देश की आंतरिक व्यवस्था में 80 से 85 फीसदी काला धन था। इसे बाहर लाने के लिए मोदी ने साहसिक कदम उठाया। उम्मीद है कि मोदी एक--एक करके विदेश से काला धन लाने के लिए भी प्रयास करेंगे। ब़डे नोट के दुष्परिणाम सामने आ रहे हैं। 2000 के नोट छपना बंद होने चाहिए और सरकार को कैशलेस अर्थव्यवस्था की ओर ब़ढना चाहिए। नोटबंदी से आए तनाव को दूर करने के लिए बाबा रामदेव ने अनुलोम--विलोम और कपालभाति करने की सलाह दी है।
अनिवार्य मतदान लोकतंत्र के लिए संजीवनी
बाबा रामदेव ने कहा कि अनिवार्य मतदान लोकतंत्र के लिए संजीवनी है। अनिवार्य मतदान से जवाबदेही बनती है, लेकिन भारत में इतनी राजनीतिक परिपक्वता अभी नहीं आई है। विश्व के कई देशों में मतदान नहीं करने वालों को सरकारी सुविधाओं से वंचित किया जाता है। समाजवादी पार्टी में मचे घमासान पर बाबा ने कहा कि वे अब बिना पार्टी के निर्दलीय हो गए हैं, इसलिए कोई टिप्पणी नहीं करेंगे।

कोई नहीं ला सकता अच्छे दिन : बाबा रामदेव

गोल्डन बुक में पतंजलि ने बनाए 22 विश्व रेकार्ड, जानिए

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप