रायपुर, ब्यूरो। केंद्रीय गृृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलने स्टेट गेस्ट हाउस पहुना पहुंचे छत्तीसग़ढ के मंत्री बृृजमोहन अग्रवाल और रायपुर सांसद रमेश बैस को सिक्यूरिटी ने गेट पर रोक लिया। इसे लेकर वहां जमकर विवाद हुआ। रमेश बैस तो इतना नाराज हुए कि बिना मिले ही चले गए, जबकि बृृजमोहन को अपनी गा़डी गेट पर छोडकर पैदल जाना प़डा। इसे लेकर बृृजमोहन के कार्यकर्ताओं और पुलिस में काफी बहस हुई।

मंत्री ने बाहर निकलने के बाद एसपी को फोन पर जमकर फटकार लगाई। राजनाथ के पिछले दौरे में एयरपोर्ट पर अव्यवस्था हो गई थी। इसे लेकर राजनाथ नाराज हो गए थे। इस बार एयरपोर्ट अथॉरिटी ने स्वागत करने वालों के लिए फ्री इंट्री बंद कर दी। अब नियम बनाया गया है कि ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन से जिन नामों को अनुमति मिलेगी, उन्हें ही प्रोटोकॉल के तहत एयरपोर्ट में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। यह सूची सीएम के दफ्तर से जारी की जाएगी। इस व्यवस्था के लागू होने से एयरपोर्ट पर तो इस बार कुछ नहीं हुआ, लेकिन पहुना में फिर विवाद की स्थिति बनी। शाम करीब 5 बजे सासंद रमेश बैस पहुना पहुंचे तो उनकी गा़डी को सिक्यूरिटी ने रोक लिया। उनसे कहा गया कि भीतर किसी को भी जाने की अनुमति नहीं है।

बैस की एडिशनल एसपी से बहस हुई, लेकिन पुलिस वाले मानने को तैयार नहीं हुए। इसके बाद वाहन से उतरे बिना ही बैस वहां से चले गए। इसके कुछ देर बाद समर्थकों के साथ मंत्री बृृजमोहन पहुंचे। उन्हें भी पुलिस ने रोक दिया। इससे बृृजमोहन नाराज हो गए। बाद में उन्हें गा़डी छा़ेडकर पैदल जाने दिया, लेकिन बुके तक ले जाने की अनुमति नहीं दी। बृृजमोहन के भीतर जाने के बाद उनके समर्थकों और सिक्यूरिटी स्टॉफ में काफी कहा-सुनी हुई। इसी बीच मंत्री बाहर निकले। उन्होंने एसपी को फोन पर फटकारा। कहा-सांसद को भी नहीं पहचानेंगे तो कैसे होगा? एसपी के माफी मांगने पर विवाद खत्म हुआ। हालांकि इस मामले में पुलिस का कहना है कि कहीं कोई विवाद नहीं हुआ है।
गेट पर कहा राजनाथ के पीए का निर्देश है, कोई भीतर नहीं जाएगा। वे शायद किसी फंक्शन में जाने के लिए तैयार हो रहे थे और जल्दी में थे। मैं लौट आया। विवाद नहीं हुआ-रमेश बैस, सांसद रायपुर।

कोई घटना नहीं हुई। सिक्यूरिटी ने कहा कि गा़$डी नहीं ले जा सकते तो मैं पैदल गया। भीतर सिक्यूरिटी इंचार्ज से जवाब-तलब किया तो पता चला कि ऐसे ही निर्देश थे। एसपी ने माफी मांग ली है। अब विवाद नहीं है-बृृजमोहन अग्रवाल, मंत्री छत्तीसग़ढ।

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप