रायपुर, निप्र। छत्तीसग़ढ विधानसभा ने 500 और 1000 के नोट बंद किए जाने के केन्द्र के फैसले के स्वागत में प्रस्ताव पारित किया है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शीतकालीन सत्र के पहले दिन मंगलवार को यह प्रस्ताव रखा था। दो दिनों की चर्चा के बाद बुधवार को इस पर मतदान हुआ। 25 के मुकाबले 41 मतों से विधानसभा ने यह प्रस्ताव पारित किया।
नोटबंदी के फैसले के बाद छत्तीसग़ढ पहला राज्य है, जहां विधानसभा का सत्र हो रहा है। इसी वजह से पहले ही दिन मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने यह प्रस्ताव प्रस्तुत किया। दिल्ली में इसको लेकर विधानसभा का आपातकालीन सत्र बुलाया गया है। मुख्यमंत्री ने अपने प्रस्ताव में कहा कि यह सदन केन्द्र सरकार के विमुद्रीकरण के फैसले का स्वागत करता है। साथ ही इसमें सक्रिय सहयोग के लिए तत्परता व्यक्त करता है। मंगलवार को इस पर हुई चर्चा में मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, विधायक शिवरतन शर्मा, नवीन मारकण्डेय और डॉ. खिलावन साहू शामिल हुए। इस दौरान विपक्षी सदस्य नारेबाजी करते रहे।

पढ़ें:जमाना अब रेड कॉरीडोर का नहीं, रेड कॉरपेट का है : रमन सिंह

पढ़ें:जीएसटी पास करने वाला छत्तीसगढ़ पांचवा राज्य

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप