नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। अपने बच्चे की शिक्षा की जरूरत को लेकर मां-बाप को समय से पहले सोचना कर शुरू कर देना चाहिए। साथ ही माता-पिता को अपने बच्चे के रूचि को लेकर भी ख्याल रखना चाहिए। अगर माता-पिता अपने बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए बचत करने की योजना बना रहे हैं, तो उन्हें विशेषज्ञों से इस बारे में सलाह भी ले लेनी चाहिए। यहां हम कुछ गलतियां बता रहे हैं जो माता-पिता बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए योजना बनाते वक्त करते हैं।

बहुत ज्यादा रूढ़िवादी बनने से बचें: अगर आप बचत के पुरानी तरीकों के बारे में सोचेंगे और उसी पर बने रहेंगे तो इससे आप लक्ष्य से भटक सकते हैं। एसेट क्लास को निश्चित रूप से आपकी जोखिम लेने की क्षमता के आधार पर चुना जाना चाहिए। हालांकि आपके पास जो संपत्ति है आप उसी में से 10 से 15 सालों के लिए निवेश कर अपने बच्चे की पढाई के लिए पैसा बचा सकते हैं। आप लॉन्ग टर्म निवेश को लेकर सोचें जो आपको आगे भी फायदा पहुंचाएगा।

स्वतंत्र फैसला लेने से बचें: बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए बचत और निवेश शुरू करने से पहले हर माता-पिता या अभिभावक का यह मुख्य उद्देश्य होना चाहिए कि वह स्वतंत्र निर्णय लेने से बचे। उदाहरण के लिए, यदि माता-पिता यह मानते हैं कि वे अपने बच्चे को एक डॉक्टर के रूप में देखना चाहते हैं और बच्चे की सहमति के बिना ही उसको डॉक्टर बनाने के लिए भारी निवेश करना शुरू करते हैं तो यह गलत है।

क्योंकि इससे बच्चे के ऊपर ज्यादा बोझ आएगा क्योंकि हो सकता है कि आपका बच्चा कुछ और करना चाह रहा हो, किसी और फील्ड में करियर बनाना चाह रहा हो और आप उससे कुछ और कराना चाहते हों।

Posted By: Nitesh