नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। आपको बैंक से मिलने वाला लोन सस्ता मिलेगा या महंगा ये कैसे तय होता है। क्या आपने कभी इस बारे में सोचा है। जहां कुछ ग्राहकों को कम ब्याज दर पर लोन मिलता है। वहीं, दूसरों को इसके लिए ज्यादा कीमत चुकानी पड़ती है। इसके पीछे कई वजह हैं जिनकी चर्चा आज हम इस खबर में करेंगे।

सबसे पहले तो आपको लोन मिलने के लिए अपने क्रेडिट स्कोर पर ध्यान देना चाहिए। किसी व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर जितना ज्यादा होगा, उसे कम ब्याज दर पर लोन मिलने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए अपने क्रेडिट स्कोर को अच्छा बनाकर रखें।

दूसरी बात है लोन के बदले बैंक कोई चीज गिरवी रखते हैं। उसमें कर्जदार की ओर से डिफॉल्ट की आशंका घट जाती है। इस तरह के लोन को सुरक्षित लोन कहा जाता है। इनमें ब्याज की दर कम होती है। होम लोन इसका उदाहरण है। वहीं, पर्सनल लोन अनसिक्योर्ड माना जाता है इसलिए इसमें लोन में कोई गारंटी न होने के कारण ब्याज की दर ज्यादा रहती है।

सबसे जरूरी बात यह है कि लोन की अवधि को कम रखने की कोशिश की जाए, अवधि जितनी कम होगी, खतरा उतना कम होता है। छोटी अवधि के लोन के मामले में ब्याज की दर कम होती है।

इसके अलावा अगर ग्राहक ने एक ही बैंक से कई बार लोन लिया है और समय पर उसका भुगतान किया है तो इसका फायदा भी कर्जदार को मिलता है। ऐसे में ग्राहक को लोन भी आसानी से मिल जाती है और उस पर ब्याज दर भी कम लगता है। या फिर कई बार बाजार में कंपटीशन के चलते भी अलग अलग बैंक कम ब्याद पर लोन देते हैं 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप