नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) द्वारा जारी यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) सभी सैलरी पाने वाले लोगों को मिलने वाली 12 अंकों की एक मेंबर आईडी है। वैसे तो यूएएन सैलरी स्लिप पर ही अंकित होता है, लेकिन सैलरी स्लिप पर यूएएन नंबर नहीं है तो नियोक्ता की तरफ से जारी अन्य किसी दस्तावेज पर मिल जाएगा। कर्मचारी अपने यूएएन को ईपीएफ के वेब पोर्टल से भी हासिल कर सकते हैं। पहली नौकरी की शुरुआत में यूएएन ऑटोमैटिकली दिया जाता है।

भविष्य में आप चाहें कितनी भी नौकरियां बदल लें, लेकिन आपका यूएएन एक ही रहता है। हर बार ईपीएफओ एक नई आईडी प्रदान करता है, जो मुख्य यूएएन के साथ जुड़ी हुई होती है।

ये है UAN जेनरेट करने का स्‍टेप-बाई-स्‍टेप तरीका:-

स्टेप 1: ईपीएफ की वेबसाइट पर लॉग इन कीजिए।

स्टेप 2: इंपॉर्टेंट लिंक के तहत 'Know your UAN status' पर क्लिक कीजिए।

स्टेप 3: मेंबर आईडी दर्ज कीजिए, राज्य का चयन कीजिए, क्षेत्रीय भविष्य निधि कार्यालय का चयन कीजिए, नाम, जन्म तिथि, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और कैप्चा कोड भरिए।

प्रोविडेंट फंड (पीएफ) मेंबर आईडी/नंबर सैलरी स्लिप से प्राप्त किया जा सकता है।

स्टेप 4: 'गेट ऑथराइजेशन पिन' पर क्लिक कीजिए।

स्टेप 5: पीएफ मेंबर आईडी के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक पिन मैसेज के जरिए आएगा। उस पिन को दर्ज कीजिए।

स्टेप 6: 'वैलिडेट ओटीपी' पर क्लिक कीजिए और यूएएन प्राप्त कीजिए।

स्टेप 7: दर्ज किए गए मोबाइल नंबर पर यूएएन भेजा जाएगा।  

Posted By: Sajan Chauhan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप