नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Credit Card इस्तेमाल के कई फायदे हैं। क्रेडिट कार्ड से न केवल आप खर्च करने में सहूलियत प्राप्त करते हैं, बल्कि यह कम समय के लिए नकदी संकट को पूरा करने में भी मदद करता है। इससे आप कैशबैक, रिवार्ड पॉइंट और विशेष छूट जैसे लाभ ले सकते हैं। हालांकि, आपको इसका इस्तेमाल जिम्मेदारी से करना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपने प्रत्येक बिलिंग साइकिल के दौरान ब्याज मुक्त अवधि के भीतर अपनी कुल बकाया राशि का भुगतान कर दिया है। आइए जानते हैं कि एक क्रेडिट यूजर को कार्ड से जुड़ी कौन-कौन सी जानकारी होनी चाहिए। सेबी रजिस्‍टर्ड इन्‍वेस्‍टमेंट एडवाइर जितेंद्र सोलंकी ने ऐसी ही पांच बातें बताईं, जिनका ध्यान रखना जरूरी है।

Credit Card Credentials

जितेंद्र सोलंकी ने कहा कि सबसे पहले कार्ड नंबर, एक्सपायरी डेट, सीक्रेट पिन, वन-टाइम पासवर्ड (OTP) और तीन अंकों का कार्ड वेरिफिकेशन वैल्यू (CVV) नंबर आपके कार्ड की सुरक्षा के लिए जरूरी है, और किसी को भी इसके बारे में नहीं बताना चाहिए।

Bill Generation Day and Monthly Deadlines

सोलंकी ने कहा, यूजर्स को आमतौर पर अपना बकाया चुकाने के लिए 50 दिनों तक की ब्याज-मुक्त अवधि मिलती है। प्रत्येक क्रेडिट कार्ड खाते में एक निश्चित दिन होता है जब मासिक बिल बनता है और प्रत्येक भुगतान चक्र के लिए मासिक समय सीमा (आमतौर पर बिल निर्माण दिवस के 20 दिन बाद) होती है। कार्ड यूजर्स को इन तारीखों के बारे में पता होना चाहिए, क्योंकि मासिक समय सीमा से परे किसी भी बकाया राशि पर अतिरिक्त ब्याज शुल्क लगेगा। अक्सर सबसे अच्छा विकल्प यह होता है कि आप अपने बैंक को समय पर बकाया राशि को ऑटो-डेबिट करने के लिए सेलेक्ट कर दें।

Online Shopping and Cash Withdrawals

ई-कॉमर्स पोर्टल और एप्लिकेशन अक्सर आपसे भविष्य के लेन-देन की सुविधा के लिए अपने क्रेडिट कार्ड के डिटेल जुटाने के लिए कहते हैं। अपने कार्ड के डिटेल को अज्ञात ऑनलाइन व्यापारियों के पास देने से कार्ड धोखाधड़ी हो सकती है। आपको एक अच्छे सुरक्षा वाले लेनदेन पासवर्ड भी सेट करना चाहिए और सुनिश्चित करना चाहिए कि ओटीपी के माध्यम से two-factor authentication में सक्षम है। क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके एटीएम से नकदी निकालना एक सुविधाजनक तरीका हो सकता है।

Credit Card Limits

जितेंद्र सोलंकी ने कहा कि प्रत्येक क्रेडिट कार्ड की एक पूर्वनिर्धारित खर्च सीमा होती है, जिसके बाद यूजर्स को खर्च करने की अनुमति नहीं होती है। यह सीमा क्रेडिट कार्ड यूजर्स की आय, नौकरी प्रोफ़ाइल और क्रेडिट हिस्ट्री का आकलन करने के बाद निर्धारित की जाती है। हालांकि, आपको सलाह दी जाएगी कि आप अपने कार्ड की पूरी क्रेडिट सीमा को कभी भी समाप्त न करें और केवल अपनी चुकौती क्षमता तक ही खर्च करें, जो आदर्श रूप से कार्ड खर्च के लिए आपके मासिक बजट के अनुरूप है।

EMIs

कई क्रेडिट कार्ड EMI योजनाओं के साथ भी आते हैं, जिससे आप बड़ी राशि खर्च करके EMI में बदलवा सकते हैं। लेकिन इस सुविधा का लाभ उठाने से पहले, आपको संबंधित शुल्क, यदि कोई हो तो उसके बारे में पूरी तरह से स्पष्ट होना चाहिए। यह भी ध्यान रखें कि EMI पर खरीदे गए उत्पाद की कुल राशि तक आपकी क्रेडिट सीमा ब्लॉक हो जाएगी, और जैसे ही आप किश्तों का भुगतान करेंगे, वह फिर से खुल जाएगी। अगर आप EMI चुकाने में किसी भी तरह की ढिलाई करते हैं तो अतिरिक्त ब्याज शुल्क लगेगा, जिससे आपका क्रेडिट कार्ड बकाया बढ़ जाएगा।

Edited By: Nitesh