नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने नाबालिगों के लिए 'पहला कदम पहली उड़ान' बचत खाता की शुरुआत की है। 'पहला कदम और पहली उड़ान' से बच्चे न केवल बैंकिंग प्रोडक्ट के बारे में जान पाएंगे बल्कि उनमें बचत की आदत भी आएगी। इन खातों में मासिक औसत शेष राशि रखने की आवश्यकता नहीं है। पहला कदम पहली उड़ान बचत खाते के कुछ फायदे हैं, जैसे फोटो लगा एटीएम डेबिट कार्ड, ऑटो स्वीप सुविधा और इंटरनेट की सुविधा इसमें है।

पहला कदम पहली उड़ान की खासियत जानिए

1) पात्रता

पहला कदम: किसी भी उम्र का नाबालिग इस खाते को खोल सकता है, लेकिन इसे संयुक्त रूप से माता-पिता या अभिभावक के साथ खोलना होगा।

पहली उड़ान: यह खाता 10 वर्ष से अधिक आयु के नाबालिग के नाम से खोला जा सकता है जो हस्ताक्षर कर सकता है।

2) लेनदेन की सीमा

दोनों खातों में इंटरनेट बैंकिंग के मामले में प्रति दिन 5,000 की लेनदेन सीमा है, और मोबाइल बैंकिंग के साथ 2,000 रुपये है। बिल भुगतान, एनईएफटी भी किया जा सकता है, इन खातों से डिमांड ड्राफ्ट और ई-टर्म डिपॉजिट ले सकते हैं।

3) ब्याज दर

पहला कदम पहली उड़ान पर ब्याज दर बचत बैंक खाते के समान है। बचत जमा के लिए 1 लाख से कम की शेष राशि पर बैंक 3.25% की दर से ब्याज देता है। 1 लाख से अधिक के बैलेंस पर 3% का ब्याज मिलता है। 

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप