नई दिल्‍ली, मनीश कुमार मिश्र। ICICI Prudential म्‍युचुअल फंड ने PSU बॉन्ड प्लस SDL 40-60 इंडेक्स फंड लॉन्च किया है। यह नया फंड 16 सितंबर यानी आज खुला है और 27 सितंबर को बंद होगा। इस फंड में कम से कम 1,000 रुपये का निवेश कर सकते हैं। यह टार्गेट मैच्योरिटी इंडेक्स स्कीम है। इसकी मैच्योरिटी 2027 सितंबर में होगी। यह स्कीम निफ्टी 50 PSU बॉन्ड प्लस SDL इंडेक्स बांड में निवेश करेगी। निवेश का अनुपात 40-60 की तर्ज पर होगा। यानी, कुल पैसे का 40% हिस्सा सरकारी कंपनियों के बॉन्ड्स में और 60% पैसा SDL में निवेश किया जाएगा। PSU मतलब सरकारी कंपनियों के जो बॉन्ड होते हैं उसमें निवेश किया जाएगा। जबकि SDL का मतलब स्टेट डेवलपमेंट लोन से है।

इस स्कीम में 8 AAA रेटेड PSU बॉन्ड्स होगा। यह एक डाइवर्सिफायड पोर्टफोलियो होगा। इसमें टॉप 20 स्टेट लोन डेवलपमेंट का पोर्टफोलियो होगा। यह एक ओपन एंडेड टार्गेट मैच्योरिटी इंडेक्स फंड है। सरकारी कंपनियों और SDL में निवेश की हर तिमाही में समीक्षा की जाएगी।

इस बारे में ICICI प्रूडेंशियल म्‍युचुअल फंड के प्रोडक्ट हेड चिंतन हरिया ने कहा कि यह स्कीम निवेशकों को 8 सरकारी कंपनियों के बॉड्स और 20 SDL में निवेश का मौका देगी। यह SDL राज्य सरकार और केंद्र शासित राज्यों के होंगे। यह उन निवेशकों के लिए अच्छी स्कीम है जो फिक्स्ड इनकम इंस्ट्रूमेंट में निवेश करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि उन निवेशकों के लिए भी यह अच्छी स्कीम है जो इंडेक्स फंड के मैच्योरिटी पीरियड के साथ मध्यम अवधि में निवेश का नजरिया रखते हैं। निवेशक इस स्कीम को अपने पोर्टफोलियो में डेट अलोकेशन के रूप में देख सकते हैं। सरकारी बॉन्ड्स की बात करें तो इंडियन रेलवे फाइनेंस, न्यूक्लियर पावर कॉर्पोरेशन, पावर फाइनेंस, पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन, NHPC लिमिटेड, नाबार्ड और एक्जिम बैंक आदि हैं।

स्टेट लोन डेवलपमेंट में आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, हरियाणा जैसे राज्य शामिल हैं। इस स्कीम के जरिए निवेशक सरकारी कंपनियों में निवेश कर सकते हैं। निवेशक इसे एक वैकल्पिक पारंपरिक निवेश के तौर पर देख सकते हैं। कंपनियों की रेटिंग में AAA को सबसे अधिक और अच्छा माना जाता है। इस तरह की स्कीम में लिक्विडिटी भी अच्छी है। लिक्विडिटी का मतलब आप जब चाहें पैसा निकाल सकते हैं।

Edited By: Manish Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट