नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। डाकघर की सुकन्या समृद्धि योजना बेटियों को कई तरह के फायदे देती है, डाकघर की यह योजना विशेष रूप से बेटियों के बेहतर भविष्य को सुनिश्चित करने के लिए बनाई गई है। आप एक पिता या एक भाई के तौर पर अपनी बेटी या बहन के लिए इस योजना में उसका खाता खुलवा सकते हैं। छोटी बचत योजनओं में अपना पैसा लगाने वालों के लिए डाकघर अपनी तरफ से नौ छोटी बचत योजनाओं की पेशकश करता है। डाकघर की इन छोटी बचत योजनओं में से एक सुकन्या समृद्धि योजना भी है। आप डिपॉजिट की बेहद छोटी रकम से इस योजना में अपना खाता खुलवा सकते हैं। डाकघर की बचत योजनाओं में निवेशक को अपने जमा पर बेहतर ब्याज दर के साथ सरकारी सुरक्षा भी मिलती है। इसके अलावा आपको टैक्स बेनिफिट भी मिलता है। बेटियों के उज्ज्वल भविष्य को सुनिश्चित करने के उद्देश्य से सरकार के द्वारा साल 2014 में सुकन्या समृद्धि योजना को शुरू किया गया था। आइये जानते हैं डाकघर की इस स्कीम की पूरी डिटेल के बारे में।

क्या है डिपॉजिट करने की रकम

डाकघर की सुकन्या समृद्धि योजना में कोई भी न्यूनतम 250 रुपये सालाना से अपना निवेश शुरू कर सकता है। पोस्ट ऑफिस की इस योजना में निवेश करने की अधिकतम रकम 1.5 लाख रुपये सालाना है। अगर आप अपनी बेटी या बहन के कम उम्र में ही इस योजना के अंतर्गत निवेश शुरू करते हैं तो आप इसमें 15 सालों तक पैसा जमा कर सकते हैं।

कितना ब्याज मिलता है

डाकघर की आधिकारिक वेबसाइट से लिए गए आंकड़े के मुताबिक सुकन्या समृद्धि योजना में आपको सालाना 7.6 फीसद ब्याज दर का लाभ हासिल होता है। मिलने वाले ब्याज को हर एक वित्तीय वर्ष के अंत में अकाउंट में जमा कर दिया जाता है। डाकघर इस स्कीम के अंतर्गत मिलने वाला ब्याज इकम टैक्स अधिनियम के तहत कर मुक्त है।

खाता खुलवाने की पात्रता

डाकघर की सुकन्या समृद्धि योजना में, 10 साल से कम उम्र की बालिका के नाम पर उसके अभिभावक की तरफ से खाता खुलवाया जा सकता है। भारत में डाकघर या किसी भी बैंक में बालिकाओं के नाम पर केवल एक खाता खोला जा सकता है।

Edited By: Abhishek Poddar