नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। अगर आप सही समय पर अपने बच्चे के स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई के खर्चों के लिए योजनागत तरीके से निवेश करना शुरू कर देंगे तो सही वक्त आने पर आपको महंगाई के दौर में भी पढ़ाई के खर्चों की चिंता नहीं सताएगी। अगर आप अपने बच्चे को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देना चाहते हैं तो स्कूल स्तर की शिक्षा भी आजकल काफी महंगी है, लिहाजा इस खर्चे को उठाने के लिए आपको योजनागत तरीके से निवेश करना ही होगा। गौरतलब है कि आज पूरा देश बाल दिवस मना रहा है। 

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान कर सकता है आपकी मदद: अगर आपका बच्चा 1 साल का है या फिर 1 साल का होने वाला है तो महंगाई के इस दौर में उसकी पढ़ाई के लिए अभी से फिक्रमंद हो जाइए। अगर आप और आपकी पत्नी दोनों नौकरीपेशा हैं तो अपने बच्चे की पढ़ाई के लिए हर महीने 3000-3000 रुपये बचा सकते हैं। इस हिसाब से आप इस राशि को सिप में निवेश करें। 6 हजार रुपये महीने का सिप 3 साल में 15 फीसद के अनुमानित रिटर्न के लिहाज से 2.5 लाख रुपये में बदल जाएगा। अमूमन बच्चे 3 से 4 साल की उम्र में ही पढ़ाई शुरू करते हैं और बच्चे की शुरुआती शिक्षा के लिए यह राशि पर्याप्त होगी।

वहीं अगर आप अपने बच्चे की उच्च शिक्षा यानी पोस्ट ग्रेजुएशन और प्रोफेशनल पढ़ाई के लिए पैसे जोड़ना चाहते हैं तो आपको इस निवेश को कुछ और सालों के लिए बढ़ाना होगा। साथ ही अगर आप अपने सिप की राशि को थोड़ा और बढ़ा लेते हैं तो ये काफी बेहतर होगा। पोस्ट ग्रेजुएशन या प्रोफेशनल पढ़ाई तक पहुंचते-पहुंचते बच्चे की उम्र 22-23 वर्ष हो ही जाती है। इस हिसाब से अगर आप दोनों पति-पत्नी 4000-4000 रुपये की बचत कर उसे सिप में निवेश करना शुरू कर दें तो इस उम्र तक आप अच्छा खासा पैसा जोड़ सकते हैं। मान लीजिए आपका बच्चा अभी 1 साल का है तो उसे 23 का होने में अभी 22 वर्ष बाकी हैं। आप इतने वर्षों तक सिप को जारी रखें। 8000 रुपये के मासिक निवेश पर 22 साल बाद 15 फीसद के अनुमानित रिटर्न के लिहाज से आपके पास 66.5 लाख रुपये की राशि होगी जो कि बच्चे की बेहतर उच्च शिक्षा के लिए पर्याप्त होगी।

बच्चे का नाम करा दें फिक्स्ड डिपॉजिट: अगर जोखिम रहित निवेश विकल्पों की बात की जाए तो उसमें सबसे पहला नाम फिक्स्ड डिपॉजिट का ही आएगा। छोटी अवधि के लक्ष्यों के लिए पैसा जोड़ने के लिहाज से यह सबसे उम्दा निवेश विकल्प है। अमूमन 1 से 5 वर्ष की एफडी बैंकों और पोस्ट ऑफिस में चलती है। इसकी अवधि को बढ़वाकर आप 10 वर्ष के लिए भी करवा सकते हैं। 5 वर्ष बाद आप बच्चे की प्री-स्कूलिंग के लिए अच्छा खासा पैसा जोड़ चुके होंगे। पोस्ट ऑफिस में चलने वाले फिक्स्ड डिपॉजिट पर 7.3 फीसद की दर से ब्याज मिलता है। वहीं बैंक, स्मॉल फाइनेंशियल बैंक और NBFC में चलने वाली फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दर 7 से 9 फीसद तक जाती है। इस हिसाब से इसमें अपना पैसा निवेश कर बच्चे की पढ़ाई की उम्र आते-आते अच्छा खासा पैसा जोड़ लेंगे।

बच्चे के नाम से खुलवाएं पीपीएफ खाता: आप अपने बच्चे के नाम से पीपीएफ खाता भी खुलवा सकते हैं। ये भी जोखिम रहित निवेश विकल्प माने जाते हैं। इसमें निवेश कर आप अपने बच्चों की अच्छी पढ़ाई के लिए मोटी राशि जोड़ सकते हैं। भारतीय डाकघर यानी इंडिया पोस्ट में चलने वाले 15 वर्षीय पीपीएफ खाते में आप अपने बच्चे के नाम से अकाउंट खुलवाकर उसमें निवेश करना शुरू कर सकते हैं। इस खाते पर मिलने वाली ब्याज दर 8 फीसद होती है। जो कि आज के महंगाई के दौर में काफी ज्यादा है। 

Posted By: Praveen Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप