नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। केंद्र सरकार के पोस्‍टल कर्मचारियों (Department of posts) को बड़ा नुकसान हुआ है। उन्‍हें इस बार दिवाली पर आधे दिन का बोनस मिलेगा। फाइनेंस मिनिस्‍ट्री ने उन्‍हें 120 दिन का बोनस देने से इनकार कर दिया है। मंत्रालय ने कहा कि इस बार डिपार्टमेंट ऑफ पोस्‍ट के योग्‍य कर्मचारियों को सिर्फ 60 दिन का बोनस दिया जाएगा।

भारत सरकार में अंडर सेक्रेटरी अशोक कुमार के मुताबिक डिपार्टमेंट ऑफ पोस्‍ट ने यह प्रस्‍ताव भेजा था कि नॉन गजटेड कर्मचारियों को 120 दिन का Productivity Linked Bonus दिया जाए। लेकिन मिनिस्‍ट्री ने उस प्रस्‍ताव को मानने से इनकार कर दिया है। इसलिए इस बार 120 दिन के बजाय 60 दिन का Productivity Linked Bonus दिवाली पर मिलेगा।

अंडर सेक्रेटरी अशोक कुमार का आदेश आने के बाद डिपार्टमेंट ऑफ पोस्‍ट (Department of Posts) ने अपने रीजनल दफ्तरों में सूचना भिजवाई है कि 60 दिन के बोनस के तौर पर Gramin Dak Sevak, Casual Laborers, Group B के नॉन गजटेड अफसरों, MTS और ग्रुप सी के कर्मचारियों को 7000 रुपया मिलेगा। इससे ऊपर कोई रकम बोनस के तौर पर नहीं मिलेगी।

ऑल इंडिया अकाउंट्स एंड ऑडिट कमेटी के जनरल सेक्रेटरी एचएस तिवारी ने Jagran.com को बताया कि Productivity Linked Bonus को निकालने का तरीका काफी आसान है। इसमें Basic Pay, S.B. Allowance, Deputation (Duty) Allowance, Dearness Allowance और Training Allowance को शामिल किया जाता है। इसके बाद सालाना आधार पर Bonus की रकम निकल आती है।

बता दें कि इससे पहले केंद्र सरकार ने Indian Railways को बोनस देने का ऐलान किया था। JCM, Staff side के पदाधिकारी शिव गोपाल मिश्रा ने हालांकि बोनस की रकम पर निराशा जताई थी। उनके मुताबिक रेलवे में कर्मचारी की संख्‍या कम हो गई है। इससे वर्क लोड बढ़ गया है। एक-एक कर्मचारी पर काम काफी ज्‍यादा है। कर्मचारियों ने ज्यादा काम किया है, ऐसे में बोनस की रकम भी ज्‍यादा मिलना चाहिए।

Edited By: Ashish Deep