नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान ने भारतीय उद्योग जगत में नया उत्साह और आत्मविश्वास भर दिया है जिसमें उन्होंने देश के विकास में उद्योगों की अहमियत पर बल देते हुए कहा था कि वह उद्योगपतियों के साथ दिखने से डरते नहीं हैं। उद्योगों को प्रधानमंत्री की ओर से यह समर्थन ऐसे समय में मिला है जब वह नकारात्मक माहौल से घिरा हुआ है।

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने ट्वीट करके कहा कि उद्योगों के लिए अत्यंत जरूरी विश्वास ऐसे समय में दिखाई दिया है जब उसे सिर्फ आलोचना और बुराई मिलती है। उद्योग संगठन फिक्की ने देश के विकास में उद्योगों के योगदान को प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ स्वागत योग्य है। कुछ लोगों की अवैध गतिविधियों के चलते उद्योगपतियों के साथ गलत व्यवहार को मजबूती से नकारकर पीएम ने अच्छा संकेत दिया है। फिक्की के अध्यक्ष रशेष शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने उद्योग के साथ मिलकर काम करने का संदेश देने के साथ ही यह संकेत भी दिया है कि गलत तरीके अपनाकर देश और अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने वाले उद्योगपतियों को बख्शा नहीं जाएगा। इससे उद्योगों के खिलाफ नकारात्मक आम राय को खत्म करने में मदद मिलेगी और निजी क्षेत्र में उत्साह का संचार होगा।

उद्योग संगठन सीआइआइ के अध्यक्ष राकेश भारती मित्तल ने कहा कि उद्योग पर भरोसा जताया है और देश के निर्माण में उनकी भूमिका की अहमियत बताई है। इससे उद्योग को सांत्वना मिली है। निवेश करके रोजगार पैदा करने और देश के विकास में योगदान करने के प्रयासों को भी इससे मान्यता मिली है। प्रधानमंत्री मोदी ने लखनऊ में कहा था कि वह उद्योगपतियों के साथ दिखने से डरते नहीं है। उद्योगों ने देश के विकास में अहम भूमिका निभाई है।

एसोचैम के अध्यक्ष संदीप जाजोदिया ने कहा है कि पीएम के आश्वासन से उद्योग जगत की चिंताएं खत्म हुई हैं। इससे उद्योग जगत का आत्मविश्वास बढ़ेगा। दीर्घकालिक तौर पर इसका असर समग्र और टिकाऊ आर्थिक विकास के रूप में दिखाई देगा। उन्होंने लखनऊ में जारी बयान में कहा कि उत्तर प्रदेश में विभिन्न क्षेत्रों में निवेश बढ़ेगा और रोजगार के अवसर पैदा होंगे। राज्य का तेज औद्योगिक विकास हो सकेगा।

Posted By: Surbhi Jain

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस