नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। हर कोई चाहता है कि उसे अपने निवेश पर ज्यादा से ज्यादा ब्याज मिले। इसके लिए निवेशक को मार्केट के बारे में अवेयर रहने और नए विकल्पों के बारे में जानकारी रखने की जरूरत होती है। इस समय ज्यादातर बैंक एफडी (FD) पर कम ब्याज दे रहे हैं। पिछले एक साल की बात करें, तो शीर्ष बैंकों ने अपने डिपॉजिट रेट को 55 से 100 आधार अंकों तक कम किया है। इस समय SBI 6.10 फीसद, HDFC व कोटक बैंक 6.3 फीसद और ICICI Bank 6.2 फीसद ब्याज दे रहा है। सरकारी बॉन्ड की बात करें, तो सात साल के सरकारी बॉन्ड का रिटर्न भी 7.75 फीसद है। वहीं, कुछ निवेश विकल्प ऐसे भी हैं, जो 9 फीसद से ज्यादा ब्याज दे रहे हैं।

अपने डिपॉजिट पर अधिक ब्याज पाने के लिए निवेशकों के पास एक विकल्प श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस डिबेंचर इश्यू भी है। इस एनबीएफसी (NBFC) कंपनी ने छह जनवरी को अपना नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर (NCD) ओपन किया है। इस इश्यू का बेस साइज 200 करोड़ है। सब्सक्रिप्शन अधिक होने पर कंपनी इसे 1,000 करोड़ तक बढ़ा सकती है। यह एनसीडी समयावधि और ब्याज भुगतान की आवृत्ति के आधार भिन्न-भिन्न ब्याज दरों की पेशकश कर रहा है। इसमें सात साल की अवधि के लिए सालाना ब्याज दर सबसे अधिक 9.1 फीसद है। वहीं एनसीडी में एक डिबेंचर का मूल्य 1,000 रुपये है। यह इश्यू 22 जनवरी तक खुला है।

इतना मिलेगा वार्षिक रिटर्न

इस एनसीडी में ग्राहक को 8.5 फीसद से लेकर 9.1 फीसद तक सालाना ब्याज मिल रहा है। यह एनसीडी 3,5 और 7 साल की समयावधि के लिए उपलब्ध है। अगर ग्राहक मासिक ब्याज के लिए जाता है, तो यहां 3,5 व 7 साल के लिए ब्याज दर क्रमश: 8.52, 8.66 और 8.75 फीसद होगी। वहीं, अगर ग्राहक वार्षिक ब्याज के लिए जाता है, तो ग्राहक को 3,5 व 7 साल की समयावधि के लिए क्रमश: 8.85, 9 और 9.1 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। यहां वर्षिक ब्याज के लिए दर ज्यादा है, क्योंकि इसमें ब्याज भुगतान की आवृत्ति कम होती है।

वहीं, सीनियर सिटीजंस के लिए यहां 0.25 फीसद की अतिरिक्त ब्याज दर मिलती है। इस एनसीडी का नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में लिस्टेड होना भी प्रस्तावित है।  

सुरक्षा के लिहाज से भी अच्छा है यह डिबेंचर

इस डिबेंचर में निवेश करना सुरक्षा के लिहाज से भी अच्छा है। रेटिंग एजेंसी क्रिसिल, केयर और इंडिया रेटिंग्स ने इन डिबेंचरों को AA+ रेटिंग दी है। यह रेटिंग सर्वाधिक रेटिंग AAA से सिर्फ एक पायदान नीचे है। AA+ रेटिंग वाले इंस्ट्रुमेंट्स में निवेश सुरक्षित समझा जाता है। इस तरह के निवेश में रिस्क काफी कम होता है।

ऐसे करें निवेश

ग्राहक अपने बैंक या ब्रोकर्स के माध्यम से आवेदन जमा कर एनसीडी के पब्लिक इश्यू में निवेश कर सकते हैं। इन डिबेंचरों के एनएई और बीएसई पर लिस्ट होने के बाद ग्राहक को यह सुविधा मिलेगी कि अगर वह मैच्योरिटी तक इन डिबेंचरों में निवेश नहीं रखना चाहता है, तो इन्हें स्टॉक एक्सचेंज में बेच सकते हैं। यहां बता दें कि ग्रहकों को किसी भी निवेश से पहले एक्सपर्ट्स की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस