Move to Jagran APP

म्यूचुअल फंड पर बढ़ा निवेशकों का भरोसा, जून के दौरान SIP में 21 हजार करोड़ रुपये का निवेश

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) निवेशकों ने जून माह में भी भरोसा कायम रखा है। जून के दौरान सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) में 21262 करोड़ रुपये का निवेश किया है। यह जानकारी एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) ने दी है। बात करें मई माह की तो तब निवेशकों ने 20904 करोड़ रुपये का निवेश किया था। जून के दौरान 55 लाख नए एसआईपी अकाउंट रजिस्टर्स हुई हैं।

By Agency Edited By: Subhash Gariya Tue, 09 Jul 2024 07:58 PM (IST)
बाजार में तेजी और नए निवेश के चलते SIP का एयूएम बढ़ा

पीटीआई, मुंबई। म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) निवेशकों ने जून के दौरान सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) में 21,262 करोड़ रुपये का निवेश किया है। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के अनुसार, यह मई के 20,904 करोड़ रुपये के निवेश से ज्यादा है।

एएमएफआई के सीईओ वेंकट चलसानी ने सोमवार को बताया कि जून में एसआइपी का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) बढ़कर 12.43 लाख करोड़ रुपये हो गया है। बाजार में रिकार्ड तेजी और नए निवेश के चलते एसआइपी का एयूएम बढ़ा है। जून के दौरान 55 लाख नए एसआईपी खाते पंजीकृत हुए हैं।

करीब 9 करोड़ हुए एसआईपी अकाउंट

इसके साथ एसआईपी खातों की संख्या बढ़कर 8.98 करोड़ हो गई है। इस दौरान 32.35 लाख खाते परिपक्व या बंद हुए हैं। वेंकट चलसानी ने जून में निकासी के बाद शुद्ध निवेश की जानकारी नहीं दी। इसी तरह, इक्विटी म्यूचुअल फंड में जून के दौरान 40,608 करोड़ रुपये का निवेश हुआ है। इसमें पिछले वर्ष की समान अवधि के मुकाबले 17 प्रतिशत की वृद्धि रही है।

40 माह में 65 प्रतिशत बढ़ा निफ्टी

एएमएफआई के अनुसार, फरवरी 2021 से जून 2024 तक घरेलू निवेशकों ने इक्विटी म्यूचुअल फंड में 5.99 लाख करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश किया है। यह इस दौरान विदेशी निवेशकों की ओर से निकाले गए 33,361 करोड़ रुपये से कई गुना ज्यादा है।

यह भी पढ़ें : Mutual Funds: आपका म्यूचुअल फंड सही रिटर्न दे रहा या नहीं, कैसे चलेगा पता?

बीते 40 महीनों के दौरान एनएसई निफ्टी में करीब 65 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इसमें लगातार म्यूचुअल फंड निवेश, स्थिर आय और बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे तेज विकास दर का योगदान रहा है।

यह भी पढ़ें : Mutual Fund में निवेश करना कितना सही? कहीं डूब तो नहीं जाएगी आपकी जमा-पूंजी