नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। केरल इन दिनों पानी के कहर का सामना कर रहा है। पानी-पानी हो चुके केरल में सब कुछ ठप्प पड़ चुका है। खाने-पीने की चीजें भी बड़ी मुश्किल से लोगों तक पहुंच पा रही हैं। देश और विदेश से कई तरह की सहायता केरल तक पहुंचाई जा रही है। देश के दक्षिणी राज्य में आई इस बाढ़ की भयावहता का अंदाजा आप इस बात से लगा रहे हैं कि इस राज्य में पानी के चलते इमारते तक ध्वस्त हो रही हैं।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि किसी प्राकृतिक आपदा मसलन बाढ़ या फिर तूफान में अगर आपके घर को नुकसान होता है तो आपको बीमा कंपनियां कितना और किस लिए पैसा दे सकती हैं। हम अपनी इस खबर में आपको इसी बारे में जानकारी दे रहे हैं।

आमतौर पर लोग घर को खरीदने में तो लाखों रुपए खर्च कर देते हैं लेकिन वो इसका इंश्योरेंस नहीं कराते हैं। ऐसा इसलिए भी हो सकता है कि लोगों को इसकी पर्याप्त जानकारी नहीं होती है। होम इंश्योरेंस आम तौर पर बाढ़, भूकंप, आसमानी बिजली, तूफान इत्यादि प्राकृतिक आपदाओं के कारण प्रॉपर्टी और उसमें रखे सामान को होने वाले नुकसान का कवरेज देता है। बहुमूल्य वस्तुएं की चोरी होने पर भी इंश्योरेंस में उसे कवर किया जाता है। प्राकृतिक आपदा में अगर आपका घर ढह या गिर जाता है तो बीमा कंपनिया रीकंस्ट्रक्शन के लिए उसका पैसा देती हैं।

क्या मानना है एक्सपर्ट का:

फाइनेंशियल प्लानर जितेंद्र सोलंकी ने बताया कि आज के समय में होम इंश्योरेंस पॉलिसी लेना घर के मालिकों के लिए काफी जरूरी होता है। आमतौर पर इस तरह की बीमा पॉलिसियों में दो श्रेणियों को कवर किया जाता है। पहला बिल्डिंग स्ट्रक्चर और दूसरा घर का कीमती सामान। यानी अगर किसी प्राकृतिक आपदा में आपके घर के स्ट्रक्चर को कोई नुकसान होता है तो उसमें आने वाले खर्चे (कंस्ट्रक्शन कॉस्ट) की अधिकांश भरपाई इंश्योरेंस कंपनी की ओर से की जाती है। वहीं अगर आपने अपने घर के कीमती सामान मसलन होम अप्लाइंस, पोर्टेबल इक्विपमेंट (सेलफोन, लेपटॉप और टीवी) को भी कवर करवा रखा है तो आगजनी, चोरी और सेंधमारी के बाद आपको ज्यादा वित्तीय नुकसान नहीं उठाना पड़ता है।

होम इंश्योरेंस पॉलिसी में प्राकृतिक आपदाओं से हुए नुकसान, चोरी और सेंधमारी से सुरक्षा मिलती है। जितेंद्र सोलंकी ने बताया कि कुछ बीमा कंपनिया किराए के घर में भी आपके बहुमूल्य सामान को कवर करती है। वहीं उन्होंने यह भी बताया कि पैकेज पॉलिसी लेना ज्यादा फायदेमंद रहता है क्योंकि इसमें बिल्डिंग के साथ-साथ घर के सामान और अन्य अहम चीजों को कवर करने की सुविधा दी जाती है।

Posted By: Surbhi Jain