नई दिल्ली, बिजनेस डेस्‍क। डिजिटल फ्रॉड और साइबर क्राइम फिलहाल विश्व के लिए खतरे की घंटी बना हुआ है। ऐसे में अब कंपनियां इसके इश्योरेंस के बारे में भी सोच रही है। ICICI Lombard ने देश में ऐसी पहली सेवा शुरू कर दी है। कोई भी व्यक्ति इस इंश्योरेंस पॉलिसी को खरीद सकता है। अब तक ऐसी सुविधा केवल कॉरपोरेट के लिए थी। इस पॉलिसी का प्रीमियम 6.5 रुपये से 65 रुपये प्रतिदिन है। इस प्रीमियम के एवज में पॉलिसी धारक को 50,000 रुपये से एक करोड़ रुपये तक का कवर मिलता है।  

ICICI Lombard की Cyber Insurance पॉलिसी एक साल के लिए बच्‍चे समेत पूरे परिवार को कवर उपलब्‍ध कराता है। साइबर अटैक की दशा में यह पॉलिसी डिजिटल दुनियर को नुकसान से सुरक्षित करता है। 

यह पॉलिसी निम्‍नलिखित घटनाओं से होने वाले नुकसान को कवर करती है:

  • आइडेंटिटी की चोरी
  • साइबर धमकी
  • साइबर वसूली
  • मैलवेयर घुसपैठ
  • बैंक खाता, क्रेडिट कार्ड और मोबाइल वॉलेट के अनधिकृत इस्‍तेमाल या फ्रॉड से होने वाला आर्थिक नुकसान
  • कवर्ड जोखिम के कारण होने वाले कानूनी खर्चे

पिछले एक साल में साइबर क्राइम की वजह से भारत में 1.24 खरब रुपए का नुकसान हुआ। वर्ष 2019 में भारत में 13.12 करोड़ लोग साइबर क्राइम के शिकार हुए। इनमें से 63 फीसद लोगों को आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ा। कोविड-19 के नाम पर चीन के हैकर ने जून के तीसरे सप्ताह में साइबर अटैक के 40,300 प्रयास किए। 

FBI की इंटरनेट क्राइम कंप्लेंट सेंटर की तरफ से जारी इंटरनेट क्राइम रिपोर्ट के मुताबिक साइबर क्राइम से पीडि़त दुनिया के टॉप 20 देशों में भारत तीसरे स्थान पर है। आईसीआईसीआई लोम्‍बार्ड जनरल इंश्‍योरेंस के अनुसार 50,000 रुपए से लेकर एक करोड़ तक का इंश्योरेंस करवाया जा सकता है।

Posted By: Manish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस