नई दिल्ली (जेएनएन)। बुधवार (11 अक्टूबर) को जारी किए गए जनरल इंश्योरेंस कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (GIC Re) के शेयर्स को बाजार से अच्छी प्रतिक्रिया हासिल हुई है। GIC Re भारत की सबसे बड़ी रीइंश्योरर कंपनी है। आपको बता दें कि जनरल इंश्योरेंस कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (GIC Re) का 11,372 करोड़ रुपए का आईपीओ बीते सात सालों में कोल इंडिया (15,200 करोड़ रुपए) और रिलायंस पावर (11,700 करोड़ रुपए) के बाद का सबसे बड़ा आईपीओ है।

दूसरे दिन का हाल: GIC Re का आईपीओ दूसरे दिन 12:30 बजे तक 81 फीसद तक सब्सक्राइब्ड हो गया है। आईपीओ के लिए 855 से 912 रुपये प्रति शेयर का मूल्य दायरा तय किया गया है। इस आईपीओ के जरिए GIC Re को 80,000 करोड़ रुपए मिलेंगे। निवेशक 16 शेयर की लॉट साइज में इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। इस आईपीओ के लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख 13 अक्टूबर है और खुदरा निवेशकों एवं कर्मचारियों को इस आईपीओ के इश्यू प्राइज पर 45 रुपए का डिस्काउंट दिया जाएगा।

कैसा रहा पहले दिन का हाल: स्टॉक एक्सचेंज के डेटा के मुताबिक कल (बुधवार) शाम 5 बजे तक संस्थागत निवेशकों के लिए आरक्षित किए गए शेयरों का हिस्सा 1.55 बार सब्सक्राइब्ड कर लिया गया था।

क्या करती है जीआईसी: GIC RE भारत में प्रत्येक गैर जीवन बीमा और आधे से ज्यादा इंश्योरेंस कंपनियों के लिए रीइंश्योरेंस की सुविधा उपलब्ध करवाता है। जीआईसी री प्रत्येक पॉलिसी पर एक सीमा एवं नीति के अधीन 5 फीसद का स्टेटुअरी सेशन प्राप्त करता है।

क्या होता है रीइंश्योरेंस: रीइंश्योरेंस एक बीमा कंपनी की ओर से खरीदा गया इंश्योरेंस होता है। यह काम अन्य इंश्योरेंस फर्म की ओर से किया जाता है ताकि जोखिम को कम किया जा सके। यह एक तरह का जोखिम प्रबंधन ही होता है।

कंपनी से जुड़ी प्रमुख बातें:

  • कंपनी रीइंश्योरर है और यह प्रीमियम के जरिये सामान्य बीमा कंपनियों के लिए जोखिम प्रबंधन करती है।
  • इस आईपीओ के जरिए कंपनी अपनी 14.22 फीसद हिस्सेदारी बेचेगी।
  • बिक्री में से सरकार की हिस्सेदारी 12.26 फीसद होगी, जबकि कंपनी 1.96 फीसद शेयर्स की पेशकश करेगी।
  • कंपनी की इस आईपीओ के जरिए बाजार से 12,371 करोड़ रुपए जुटाए जाने की योजना है।
  • एक्सिस कैपिटल, सिटीग्रुप, डॉयचे इंडिया, एचडीएफसी सिक्युरिटीज और कोटक कैपिटल इश्यू के मैनेजर हैं।

Posted By: Praveen Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप