नई दिल्‍ली, अनुज काकेर। पर्सनल लोन और पर्सनल लाइन ऑफ क्रेडिट जैसे प्रोडक्ट बड़ी संख्या में वेतनभोगियों के बीच तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं। इसका कारण यह है कि यह लोन असुरक्षित होते हैं और आसान व किफायती किश्तों में इनका भुगतान संभव है। हालांकि, पर्सनल लोन और क्रेडिट लाइन के बीच कुछ बुनियादी अंतर हैं। दोनों के बीच सबसे महत्वपूर्ण अंतर यह है कि लेंडर से राशि प्राप्त करने के तत्काल बाद पर्सनल लोन पर रीपेमेंट की अवधि शुरू हो जाती है, जबकि लाइन ऑफ क्रेडिट एक निश्चित क्रेडिट सीमा होती है जो किसी व्यक्ति को आवंटित होती है और वह एक निश्चित समयावधि में क्रेडिट कार्ड की तर्ज पर उसकी लिमिट के बराबर पैसा निकाल सकता है। 

उदाहरण के लिए यदि किसी व्यक्ति को एक वर्ष की अवधि के लिए एक लाख रुपये की राशि आवंटित की जाती है, तो वह अपने बैंक खाते में सीधे पूरी राशि निकाल सकता है। हालांकि, यह क्रेडिट कार्ड के विपरीत है, जिस पर काफी अधिक वार्षिक ब्याज दर चुकानी होती है। पर्सनल लाइन ऑफ क्रेडिट पर अर्जित ब्याज दर तुलनात्मक रूप से बहुत कम है। इस प्रकार जब एक पर्सनल लोन और पर्सनल लाइन ऑफ क्रेडिट के बीच चयन करने की आवश्यकता हो तो सभी विकल्पों के लाभों और कमियों को तौलना और सोच-समझकर निर्णय लेना महत्वपूर्ण है।

कैरियर विकास के लिए पर्सनल लोन

जब आप अपने कैरियर को आगे बढ़ाने या प्रोफेशनल डेवलपमेंट हासिल करने के तरीकों के बारे में सोचते हैं तो पर्सनल लोन या क्रेडिट लाइन आपकी सूची में शामिल नहीं होते। फिर भी, सस्ते और लचीले लोन तक पहुंच वेतनभोगियों को प्रमुख तात्कालिक या दीर्घकालिक लाभ प्रदान कर सकती है, जैसे कि उनके वित्त को व्यवस्थित करने या उनके लोन के कुशल प्रबंधन के लिए। इसके अलावा पेशेवर प्रशिक्षण या कौशल पाठ्यक्रमों के लिए भुगतान करने के लिए पर्सनल  लोन या क्रेडिट लाइन से धन का उपयोग करना भविष्य के पेशेवर विकास में एक ठोस निवेश साबित हो सकता है और कैरियर के नए रास्ते खोल सकता है।

लेकिन यह सब एक पर्सनल लोन या क्रेडिट लाइन के साथ नहीं हो सकता है। यहां शीर्ष 5 तरीके दिए गए हैं जिनमें अतिरिक्त धन तक पहुंच आपके प्रोफेशनल डेवलपमेंट में सहायता कर सकती है।

कौशल विकास में निवेश 

यदि आप अपने कैरियर के शुरुआती चरण वाले पेशेवर हैं, तो एक पेशेवर स्किलिंग कोर्स आपकी योग्यता में वृद्धि कर सकता है और आपके कैरियर की संभावनाओं को बढ़ा सकता है। इससे आपको अधिक आकर्षक विकल्प जो उच्च आय और बेहतर स्थिति तक ले जाते हैं, संभव हो सकते हैं। पर्सनल लोन या लाइन ऑफ क्रेडिट के साथ आप प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों, औपचारिक उच्च शिक्षा की डिग्री या यहां तक कि ऑनलाइन लर्निंग कार्यक्रमों के लिए भुगतान कर सकते हैं जो मौजूदा कौशल को बढ़ाने या नया कौशल हासिल करने में मदद करते हैं।

लोन चुकाना या कंसोलिडेट (समेकित) करना

आप अपने लोन्स को कंसोलिडेट कर अपने लोन को कम या सुव्यवस्थित करने के लिए पर्सनल लोन या पर्सनल लाइन ऑफ क्रेडिट की मदद ले सकते हैं। एक लोन का प्रबंधन कई सारे लोन खातों के प्रबंधन के मुकाबले आसान होता है। न तो आपको अलग-अलग किश्तों के भुगतान की तारीखों को याद करना होता है और न ही कई भुगतानों को ट्रैक करने की आवश्यकता होती है। इससे किसी भी व्यक्ति को अपनी नौकरी पर ध्यान केंद्रित करने के लिए या पेशेवर प्रशिक्षण पाठ्यक्रम पर बहुत अधिक समय देने जैसे कैरियर के विकास में महत्वपूर्ण कार्यों पर समय देने में मदद मिलती है। 

डेट कंसोलिडेशन (ऋण समेकन) का एक प्रमुख लाभ यह है कि आपको कई बकाया लोन पर अत्यधिक ब्याज दरों का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है, जो हर महीने आपकी जेब पर बोझ डालते हैं। इसके बजाय कम ब्याज दर पर मासिक भुगतान करें और इससे आप जल्द से जल्द लोन का पुनर्भुगतान भी कर सकेंगे। इस तरह आप अपने मासिक खर्चों का प्रबंधन अधिक कुशल तरीके से कर सकते हैं और आसानी से अल्पकालिक या दीर्घकालिक बचत की अपनी योजना बना सकते हैं।

उत्पादकता बढ़ाने के लिए साधनों तक पहुंच

भले ही आपके पास पेशेवर विकास के लिए सही योग्यता और कौशल हो, बेहतर उत्पादकता या दक्षता सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक सही साधन या तकनीक तक पहुंच की कमी आपको अपनी वास्तविक क्षमता प्राप्त करने से रोक सकती है। पर्सनल लोन या लचीली क्रेडिट लाइन आपको आपके द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक को बेहतर करने में मदद कर सकती है, जैसे कि एक बेहतर कंप्यूटर या एक नया सॉफ़्टवेयर खरीदना जो आपको उन कार्यों को करने में मदद करता है जो आपके काम को अधिक कुशलता से करने में आपकी मदद कर सकता है। 

वित्तीय बैकअप

कभी-कभी, केवल एक चीज आपको अपने सपनों की नौकरी को हासिल करने से रोकती हैऔर वह है बैकअप। मौजूदा नौकरी आपकी जरूरतों को पूरा करती है और बिलों का भुगतान करती है। एक क्रेडिट लाइन आपको पेशेवर और कैरियर विकास के अन्य अवसरों को भुनाने की दिशा में काम करते हुए पर्याप्त वित्तीय सहायता देने का विकल्प देती है।

उद्यम शुरू करने के लिए स्टार्ट-अप कैपिटल तक पहुंच

अगर ऑफिस की नौकरी करना आपके बस की बात नहीं है और आप अपना खुद का व्यवसाय करने का सपना देखते हैं, तो पर्सनल लोन या पर्सनल लाइन ऑफ क्रेडिट आपके बिजनेस वेंचर को शुरू करने के लिए पूंजी का सबसे अच्छा स्रोत हो सकता है। पर्सनल लोन या क्रेडिट लाइन के साथ, आप 5 लाख रुपये तक के फंड तक पहुंच हासिल करने अपना व्यवसाय स्थापित करने, टीम बनाने और प्रौद्योगिकी में निवेश करने की दिशा में आगे बढ़ सकते हैं। आपके पास एक बड़ी राशि होगी तो आप व्यापार के प्रारंभिक चरण में निश्चित राशि निवेश कर सकते हैं और बाकी भविष्य में अपने उद्यम को बनाए रखने और आगे बढ़ाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं वह भी पारंपरिक बैंक या एनबीएफसी से संपर्क किए बिना। 

(लेखक मनीटैप के सह-संस्थापक और सीओओ हैं। प्रकाशित विचार उनके निजी हैं।)  

Posted By: Manish Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप