नई दिल्ली, सज्जा प्रवीण। कोविड-19 महामारी को देखते हुए अधिकतर कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा दे दी है, जिसके कारण देशभर में अपनी कारों से यात्रा करने का सिलसिला भी कम हो गया है। हाल में मीडिया में आई रिपोर्ट के मुताबिक, मार्च के मध्य से लेकर जून के पहले सप्ताह तक देशभर में कारों द्वारा तय दूरी में लगभग 50% की गिरावट देखी गई है। यह ऐसा दौर है, जिसमें हम हर मोर्चे पर असामान्य बदलावों से गुजर रहे हैं। देशभर में कंपनियों के कर्मचारियों को घर से काम करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है, अधिकतर शॉपिंग ऑनलाइन हो रही है, साथ ही और भी कई ऐसे काम हैं, जिन्हें करने के तरीके पहले की तुलना में पूरी तरह बदल गए हैं। जब सबकुछ बदलाव के दौर से गुजर रहा है, तो ऐसे में भला इंश्योरेंस सेक्टर क्यों पीछे रहे?

इसी बदलाव के तहत अब देश में इस्तेमाल आधारित मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी की शुरुआत की गई है। विभिन्न इंश्योरेंस कंपनियों द्वारा पेश की गई मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी में आप कार द्वारा तय कुल दूरी के किलोमीटर के हिसाब से इंश्योरेंस ले सकते हैं, न कि पहले की तरह पूरे साल के लिए। वैसे कार मालिक जो कार द्वारा तय दूरी के किलोमीटर के हिसाब से इंश्योरेंस लेना चाहते हैं, उनके लिए सीधा सा जवाब है 'पे ऐज यू यूज' इंश्योरेंस पॉलिसी। पिछले कुछ हफ्तों में कुछ इंश्योरेंस कंपनियों ने पे ऐज यू यूज ड्राइव इंश्योरेंस पॉलिसी की शुरुआत की है। जो लोग बहुत ज्यादा कार नहीं चलाते हैं, उनके लिए यह पॉलिसी मोटर इंश्योरेंस पर आने वाले खर्च को कम करने का बढ़िया विकल्प है। 

एडेलवाइस जनरल इंश्योरेंस (EGI) - एडेलवाइस SWITCH

एडेलवाइस जनरल इंश्योरेंस (EGI) की एडेलवाइस SWITCH एक ड्राइवर आधारित मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी है, जो न केवल ड्राइवर को इस्तेमाल के आधार पर अपने मोटर इंश्योरेंस को चालू करने (ऑन) और बंद करने (ऑफ) की सुविधा प्रदान करती है, बल्कि यह एक ही पॉलिसी के अंदर कई वाहनों को कवर करती है, क्योंकि यह एक फ्लोटर पॉलिसी है। एक पारंपरिक मोटर ओडी पॉलिसी से अलग एडेलवाइस SWITCH के प्रीमियम की गणना ड्राइवर की आयु और उसके अनुभव के आधार पर होगी। इस पॉलिसी में ग्राहकों को इंश्योरेंस पर होने वाले खर्च में बचत के साथ ही सुविधा भी मिलती है, क्योंकि एडेलवाइस SWITCH के पे ऐज यू यूज मॉडल के तहत उन्हें उतना ही प्रीमियम देना पड़ता है, जितनी उनकी गाड़ी चलती है। हालांकि, एक्सिडेंटल डैमेज क्लेम तभी किया जा सकता है, जब पॉलिसी ऑन हो, जबकि गाड़ी में आग लगने और उसके चोरी होने का कवर 24/7/365 मिलती है, क्योंकि ये घटनाएं गाड़ी खड़ी रहने के दौरान भी हो सकती हैं। पे ऐज यू यूज मॉडल मोटर इंश्योरेंस प्रीमियम तय करने के मानदंड में बदलाव ला सकता है, क्योंकि इसमें वाहन का इस्तेमाल और वाहन मालिक के वाहन चलाने के अनुभव को भी ध्यान में रखा जाएगा। 

भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस -  पे ऐज यू ड्राइव

भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस आईआरडीएआई के सैंडबॉक्स प्रॉजेक्ट के तहत प्राइवेट कार ओनर के लिए इस्तेमाल आधारित मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी पेश करने वाली है। पे एज यू ड्राइव इंश्योरेंस पॉलिसी, कॉम्प्रिहेंसिव ओन डैमेज (OD) और थर्ड पार्टी (TP) दोनों का मिलाजुला रूप होगा। इसमें टीपी प्रीमियम आईआरडीएआई के नियमों के मुताबिक तय होगा, जबकि कॉम्प्रिहेंसिव ओडी की गणना दिए गए समय में कार मालिक द्वारा कार को कितने किलोमीटर चलाने का अनुमान है, इसके आधार पर होगी। वर्तमान में, इंश्योरेंस कंपनियां पे 'एज यू ड्राइव' मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी के तहत तीन स्लैब- 2,400 किलोमीटर, 5,000 किलोमीटर और 7,000 किलोमीटर लेकर आई हैं। हालांकि, जिन ग्राहकों को लगता है कि वे अपने कार को 2,500 किलोमीटर या 5,000 किलोमीटर से ज्यादा चलाएंगे तो वे पॉलिसी अवधि के बीच में ऊंचे स्लैब को चुन सकते हैं या रेग्युलर इंश्योरेंस पॉलिसी की तरफ जा सकते हैं, जिसमें उन्हें असीमित किलोमीटर के लिए कवरेज मिलता है। हालांकि, इन दोनों परिस्थितियों में जो अतिरिक्त प्रीमियम निकलेगा, उसका भुगतान ग्राहकों को करना होगा। अगर ग्राहक इंश्योरेंस स्लैब में चुने गए किलोमीटर को पार कर जाता है, तो टीपी इंश्योरेंस कवर बरकरार रहेगा, जबकि ओडी कवर नहीं मिलेगा। 

टाटा एआईजी जनरल इंश्योरेंस – ऑटोसेफ

टाटा एआईजी जनरल इंश्योरेंस भी उन इंश्योरेंस कंपनियों की फेहरिस्त में शामिल हो गई है, जो इस्तेमाल आधारित इंश्योरेंस कवरेज प्रदान कर रही हैं। कंपनी ने 'ऑटोसेफ' नाम से वाहन इंश्योरेंस पॉलिसी लॉन्च की है। इस पॉलिसी में कार द्वारा तय की गई दूरी और प्रीमियम की गणना के लिए टेलिमेटिक्स आधारित नेक्स्ट-जेन ऐप्लिकेशन एवं डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है। यह ऐप पॉलिसीधारक को किलोमीटर चुनकर प्रीमियम बचाने, सुरक्षित ड्राइविंग को प्रोत्साहित करने और कार की चोरी होने से भी बचाता है, क्योंकि यह जीपीएस ट्रैकिंग सुविधा के साथ आता है। इंश्योरेंस पॉलिसी चालू होते ही इस टेलिमेटिक्स डिवाइस को कार में फिट कर दिया जाता है और पॉलिसी की पूरी अवधि के दौरान यह कार में ही लगी रहती है। इस प्लान में ग्राहकों के पास 2,500 किलोमीटर, 5,000 किलोमीटर, 7,500 किलोमीटर, 10,000 किलोमीटर, 15,000 किलोमीटर और 20,000 किलोमीटर का स्लैब चुनने का विकल्प होता है। अगर पॉलिसी अवधि में लिया गया किलोमीटर खत्म हो जाता है, तो ग्राहक टॉप अप किलोमीटर ऑप्शन का चुनाव कर अतिरिक्त किलोमीटर खरीद सकता है। इसके अलावा, सुरक्षित ड्राइविंग को प्रोत्साहित करने के लिए यह पॉलिसी सुरक्षित ढंग से कार चलाने पर ग्राहक को समय-समय पर बोनस किलोमीटर भी प्रदान करती है। यह डिवाइस एक मोबाइल ऐप से जुड़ा होता है, जो तमाम सूचनाओं को रिकॉर्ड करता है, तय की गई दूरी को दर्ज करता है और वाहन की कंडीशन और पॉलिसीधारक के ड्राइविंग पैटर्न को लेकर रिपोर्ट देता है। इसलिए, आप आप अपनी कार जितनी कम चलाएंगे, आपको उतने ही कम प्रीमियम का भुगतान करना होगा। 

जरूरी बातें 

पे एज यू यूज मोटर पॉलिसी ग्राहकों की जरूरतों के बिल्कुल अनूकूल होगी। वाहन इंश्योरेंस पॉलिसी में इस तरह का बदलाव ऐसे दौर में बेहद औचित्यपूर्ण लगता है, जब सरकार अनावश्यक यात्रा को हतोत्साहित करने में लगी है और कंपनियों तथा कर्मचारियों को घर से काम करने में फायदा नजर आ रहा है। जो लोग बहुत ज्यादा ड्राइव नहीं करते हैं, वे पे एज यू यूज कार इंश्योरेंस पॉलिसी लेकर पैसों की बचत कर सकते हैं। हालांकि, जब आप इस बात पर विचार करते हैं कि आप कितना ड्राइव करते हैं, तो इसमें कार में बैठकर आपके द्वारा बिताए गए घंटे नहीं गिने जाएंगे, खासकर जब आप ट्रैफिक में घंटों फंसे रहते हैं। आपके कार के द्वारा तय की गई दूरी मायने रखती है। पे एज यू ड्राइव मॉडल निश्चित तौर पर पॉलिसी लेने वालों की तादाद बढ़ाने में मदद करेगी। 

(लेखक पॉलिसीबाजार डॉट कॉम में मोटर इंश्‍योरेंस के हेड हैं। प्रकाशित विचार उनके निजी हैं।)

 

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस